स्वराशि वृषभ में शुक्र के गोचर से इन राशियों को मिलेगा लाभ

शुक्र का वृषभ राशि में गोचर: 28 मार्च 2020

28 मार्च 2020, शनिवार की दोपहर 15 बजकर 36 मिनट पर शुक्र ग्रह अपनी स्वराशि वृषभ राशि में प्रवेश करने वाला है। वैदिक ज्योतिष में शुक्र ग्रह को हर तरह की सुख और सुविधाओं का कारक माना गया है। ज्योतिष में शुक्र ग्रह को महत्वपूर्ण दर्ज़ा दिया गया है। शुक्र ग्रह को धन और काम का कारक माना जाता है।

किसी समस्या से हैं परेशान, समाधान पाने के लिए ज्योतिष से प्रश्न पूछें 

कहते हैं हमारे वैवाहिक जीवन के सभी सुख-दुःख शुक्र ग्रह से ही प्रभावित होते हैं। पुरुषों के विवाह के लिए काफी हद तक शुक्र ग्रह को ही ज़िम्मेदार माना गया है, वहीं महिलाओं के विवाह के लिए बृहस्पति को जिम्मेदार माना जाता है। इंसान की कुंडली में अगर शुक्र ग्रह शुभ होता है तो इससे इंसान को उसके जीवन में सुख और वैभव प्राप्त होता है और शुक्र ख़राब होने की स्थिति इंसान को जीवन में बहुत ज़्यादा संघर्ष का सामना करना पड़ता है।

जानें आपके साल 2020 का हाल – वार्षिक कुंडली 2020

वृषभ राशि को पृथ्वी तत्व की राशि कहा जाता है और इसके साथ ही यहाँ जानने वाली बात यह भी है कि, यह शुक्र ग्रह की अपनी राशि कही जाती है। ऐसे में शुक्र ग्रह के स्वराशि में होने वाले इस संयोग से लोगों में सुख की अभिलाषा बढ़ेगी। तो आइये अब जानते हैं कि शुक्र के इस गोचर का क्या ख़ास प्रभाव सभी राशियों पर देखने को मिलेगा। 

यह भविष्यफल चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र राशि जानने के लिए क्लिक करें: चंद्र राशि कैलकुलेटर

मेष राशि

शुक्र महाराज आपकी राशि से दूसरे भाव में गोचर करेंगे। यह आपके दूसरे भाव के साथ साथ साथ सातवें भाव का भी स्वामी है। शुक्र के इस गोचर से आपकी वाणी में आकर्षण की बढ़ोत्तरी होगी और आप अपनी प्यारी और आकर्षक बातों से अपने आसपास के सभी लोगों को लुभाने में कामयाब रहेंगे…..आगे पढ़ें

वृषभ राशि 

आपकी राशि के लिए शुक्र का यह गोचर काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि है यह आपकी ही राशि में होने जा रहा है और शुक्र आपकी राशि के स्वामी भी हैं और आप के छठे भाव के स्वामी भी। इसलिए इस गोचर के प्रभाव से आपके स्वास्थ्य…..आगे पढ़ें

जीवन को समृद्ध बनाने वाले आपकी कुंडली में छिपे हैं राज योग 

मिथुन राशि 

शुक्र देव का या गोचर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है क्योंकि आपके बारहवें भाव में प्रवेश करेगा। आपके लिए शुक्र पांचवे भाव के साथ ही बारहवें भाव का स्वामी भी है। इस भाव में गोचर के कारण आपके खर्चों में अचानक से ही अप्रत्याशित वृद्धि देखने को मिलेगी…..आगे पढ़ें

कर्क राशि 

शुक्र का गोचर आपकी राशि से एकादश भाव में होगा आपके लिए शुक्र चतुर्थ और एकादश भाव का स्वामी है। अपनी ही राशि में एकादश भाव में शुक्र की उपस्थिति आपको धनवान बनाएगी और लक्ष्मी की प्राप्ति करवाएगी…..आगे पढ़ें

सिंह राशि 

सिंह राशि के लोगों के लिए शुक्र का गोचर दशम भाव में होगा और शुक्र आपके लिए तीसरे तथा दशम भाव के स्वामी हैं। दशम भाव में शुक्र का गोचर आपके काम में तरक्की लेकर आएगा क्योंकि यहां शुक्र स्वराशि का है और आप…..आगे पढ़ें 

कन्या राशि 

आपके लिए शुक्र देव आपके नवम भाव के स्वामी हैं और दूसरे भाव के स्वामी भी तथा अपने गोचर काल में वह आपके नवम भाव में प्रवेश करेंगे जो कि आपके भाग्य का स्थान भी है। इसलिए शुक्र देव की कृपा से इस गोचर काल में आपको भाग्य का…..आगे पढ़ें 

तुला राशि 

आपकी राशि के स्वामी शुक्र देव अपने इस गोचर काल में आपके अष्टम भाव में अपनी स्वराशि वृषभ में प्रवेश करेंगे। अष्टम भाव का स्वामी अष्टम भाव में जाने से इस भाव के विशिष्ट गुण प्रदर्शित होंगे, जिसकी वजह से आपको अचानक से…..आगे पढ़ें 

रोग प्रतिरोधक कैलकुलेटर से जानें अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता

वृश्चिक राशि 

वृश्चिक राशि के जातकों के लिए यह गोचर काफी महत्वपूर्ण होने वाला है क्योंकि आपके सप्तम भाव का स्वामी शुक्र अपने ही भाव में वापस लौटेगा। यह आपके बारहवें भाव का स्वामी भी है, जिसकी वजह से आपके दांपत्य जीवन में सुखों की बरसात होने लगेगी…..आगे पढ़ें

धनु राशि 

आपकी राशि से छठे भाव में शुक्र का यह गोचर होगा जो कि अपनी ही राशि में होगा।  शुक्र आप के छठे भाव के साथ साथ आप के ग्यारहवें भाव का स्वामी भी है। शुक्र की गोचर की यह स्थिति अधिक अनुकूल नहीं मानी जाती, इसलिए…..आगे पढ़ें

गोचर की विस्तृत जानकारी के लिए देखें वीडियो : वीडियो लिंक

मकर राशि 

आपकी राशि के लिए शुक्र का गोचर बहुत ही महत्वपूर्ण होता है क्योंकि यह आपके लिए योगकारक ग्रह है। अपने गोचर की इस अवधि में शुक्र आपके पंचम भाव में प्रवेश करेगा, जो कि बहुत अनुकूल स्थान है और शुक्र अपनी ही राशि में होने से…..आगे पढ़ें

कुंभ राशि 

शुक्र ग्रह का यह गोचर आपके जीवन में सुख और शांति लेकर आएगा तथा अनेक प्रकार के सुखों की प्राप्ति होगी क्योंकि शुक्र ग्रह गोचर काल में आपके चतुर्थ भाव में प्रवेश करेगा, जो कि उसका अपना भाव भी है क्योंकि शुक्र की…..आगे पढ़ें

मीन राशि 

आपकी राशि के लिए शुक्र ग्रह तीसरे और आठवें भाव का स्वामी है और अपने इस गोचर काल में वह आप के तीसरे भाव में प्रवेश करेगा। यह गोचर आपके लिए अधिक अनुकूलता की ओर इशारा नहीं कर रहा है, इसलिए इस गोचर के दौरान…..आगे पढ़ें 

कॉग्निएस्ट्रो आपके भविष्य की सर्वश्रेष्ठ मार्गदर्शक

आज के समय में, हर कोई अपने सफल करियर की इच्छा रखता है और प्रसिद्धि के मार्ग पर आगे बढ़ना चाहता है, लेकिन कई बार “सफलता” और “संतुष्टि” को समान रूप से संतुलित करना कठिन हो जाता है। ऐसी परिस्थिति में पेशेवर लोगों के लिये कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट मददगार के रुप में सामने आती है। कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट आपको अपने व्यक्तित्व के प्रकार के बारे में बताती है और इसके आधार पर आपको सर्वश्रेष्ठ करियर विकल्पों का विश्लेषण करती है।

 

इसी तरह, 10 वीं कक्षा के छात्रों के लिए कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट उच्च अध्ययन के लिए अधिक उपयुक्त स्ट्रीम के बारे में एक त्वरित जानकारी देती है।

 

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.