वास्तुशास्त्र : दुर्भाग्य की निशानी है ऑफ़िस और घर में मौजूद ये चीज़ें, आज ही हटा दें

वास्तुशास्त्र को भारत की महानतम और प्राचीन विद्याओं में से एक माना जाता है। वास्तुशास्त्र का सीधा संबंध दिशाओं और ऊर्जाओं के ज्ञान से होता है। वास्तुशास्त्र की अवधारणा हमारे आस-पास मौजूद ऊर्जाओं पर आधारित होता है। माना जाता है कि ऊर्जाएं इंसान के जीवन पर अपना गहरा असर डालती हैं। इसका मतलब यह होता है कि अगर आपके आसपास सकारात्मक ऊर्जा है तो जाहिर है कि आपके ऊपर इसका सकारात्मक प्रभाव पड़ेगा वहीं अगर आप नकारात्मक ऊर्जाओं से घिरे हैं तो इससे आपके जीवन पर गलत प्रभाव पड़ता है।

वास्तुशास्त्र में ये बात भी मानी जाती है कि धातु, वस्तुएँ, वातावरण की साफ़-सफाई और घर या ऑफ़िस की दिशा-नक्षत्र भी हमारे वातावरण में मौजूद ऊर्जाओं को सीधे तौर पर प्रभावित करता है। कहने का मतलब यह है कि हम किस तरह की ऊर्जाओं को अपनी तरफ आकर्षित करते हैं यह भी हमारे ऊपर ही निर्भर करता है। ऐसे में हम इस लेख के जरिए आपको ये बताने जा रहे हैं कि आपके घर या ऑफ़िस में ऐसी कौन सी चीजें हैं जो सिर्फ आपके जीवन में दुर्भाग्य के द्वार खोलती हैं। इसे आप जितने जल्दी अपनी ज़िंदगी से निकाल देते हैं ये आपके लिए बहुत अच्छा होगा।

कैक्टस या कोई भी कटीला पौधे

यूँ तो पेड़-पौधे हमेशा ही ख़ुशहाली के प्रतीक माने जाते हैं लेकिन कई बार देखा गया है कि लोग अपने घरों और ऑफ़िस डेस्क पर कैक्टस के पौधे को रख देते हैं। वास्तु-शास्त्र के अनुसार ये गलत है। ऐसे में अगर आपके घर के अंदर या बाहर कैक्टस लगा है तो आपको जल्द से जल्द उसे हटा देना चाहिए क्योंकि यह आपके निजी और व्यावसायिक दोनों ही जीवन से सभी तरह की ख़ुशियों को समाप्त कर देते हैं। कैक्टस को अपनी ज़िंदगी में रखने वाले इंसान के जीवन में सिर्फ परेशानियां और तनाव ही रह जाता है।

नकली/सूखे फूल-पौधे

वास्तुशास्त्र के हिसाब से घर या दफ्तर में नकली या सूखे हुए फूल रखना घर की शांति और ख़ुशियों को छीन लेता है। साथ ही यह आपके आपसी रिश्तों में भी कड़वाहट लाता है। इसलिए ही कहा गया है कि अगर आपको फूल-पौधों का शौक हो भी तो घर में हमेशा ताज़ा फूल ही सजाना चाहिए।

यहाँ जानिए : वास्तु दोष के कारण, लक्षण और निदान

ताज-महल

बहुत से लोग घर में सजाने के लिए ताज-महल को बेहद उपयुक्त मानते हैं लेकिन वास्तु-शास्त्र के हिसाब से इसे भी गलत माना गया है। ऐसा इसलिए क्योंकि ताज-महल बेशक खूबसूरत तो है लेकिन वो एक मक़बरा है और घर में मकबरा रखना अशुभ होता है।

पानी का झरना

आजकल के समय में लोग अपने घर को सजाने के लिए कई सारी चीज़ों का इस्तेमाल करते हैं।  इसी में से एक चीज़ है पानी का झरना, लेकिन वास्तु के हिसाब से ये भी गलत माना गया है क्योंकि इसे धन-व्यय से जोड़कर देखा जाता है।

डूबते हुए सूरज या डूबती हुए नाव की तस्वीर

जहाँ एक तरफ उगते सूरज को देखना और उसकी पेंटिंग को घर में सजाना शुभ माना  जाता है वहीँ डूबता सूरज या पानी की लहरों के बीच फंसी या डूबती हुई नाव की तस्वीर लगाना पारिवारिक रिश्तों में कलह की वजह बनता है।

राक्षस और जंगली जानवरों से जुड़ा कोई भी आइटम 

घर में किसी भी जंगली जानवर, राक्षस या अन्य कोई भी हिंसक तस्वीर या मूर्ति लगाना घर के लोगों के दिमाग पर बहुत ही गलत असर डालता है।  इसके अलावा यह आपके घर के अंदर हर तरह की नकारात्मक ऊर्जाओं को भी आमंत्रित करता है।

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.