बुद्धि के दाता कर रहें हैं गोचर, जानें कैसे करे इन्हें प्रसन्न!

ज्योतिष में “बुध” को एक शुभाशुभ ग्रह माना गया है। 29 सितंबर को बुध देव तुला राशि में गोचर कर रहे हैं, जहाँ ये लगभग 1 महीने तक विराजमान रहेंगे। बुध ग्रह मिथुन और कन्या राशियों का स्वामी होता है। जहाँ एक तरफ कन्या राशि में यह उच्च भाव में रहता है। वहीं मीन राशि में बुध नीच भाव में स्थित होता है। 

अगर बात करें नक्षत्रों कि तो 27 नक्षत्रों में से बुध को अश्लेषा, ज्येष्ठा और रेवती नक्षत्र का स्वामित्व मिला है। हिन्दू ज्योतिष में बुध ग्रह को बुद्धि, तर्क शक्ति, गणित, चतुरता, व्यापार, चेतना और मित्र आदि का कारक कहा जाता है। सूर्य और शुक्र ग्रह, बुध के मित्र माने जाते हैं, जबकि चंद्रमा और मंगल ग्रह को इसका शुत्र मनाते हैं। बुध का रंग हरा है और सप्ताह में बुध को बुधवार का दिन समर्पित है।

माना गया है कि बुध जिस ग्रह के साथ होता है उसी अनुरूप फल देने लग जाता है। यदि बुध शुभ ग्रहों, जैसे कि गुरु, शुक्र और बली चंद्रमा के साथ होता है, तो यह शुभ फल देता है वहीँ अगर ये क्रूर ग्रहों जैसे कि मंगल, केतु, शनि राहु, सूर्य की संगति में रहता है, तो अशुभ फल देने लग जाता है। अशुभ प्रभाव सुनते ही बहुत से लोग डर जाते हैं, लेकिन आपको घबराने की ज़रूरत नहीं। आज हम अपने इस लेख में आपको बताएंगे कि यदि किसी का बुध कमज़ोर है तो, किस प्रकार आप बुध देव को छोटे-छोटे उपायों के ज़रिए प्रसन्न कर सकते हैं –

29 सितंबर को बुध कर रहा है गोचर 

बुद्धि दाता ग्रह “बुध” 29 सितम्बर 2019, रविवार को दोपहर 12:41 बजे तुला राशि में प्रवेश करेंगे और 23 अक्टूबर 2019, बुधवार रात्रि 22:47 बजे तक स्थित तुला राशि में ही रहेंगे। लगभग एक महीने तक बुध तुला राशि में ही रहेंगे।  बुध के इस गोचर का सभी 12 राशियों पर प्रभाव पड़ने वाला है। 

बुध का तुला राशि में गोचर, जानें आपकी राशि पर इसका प्रभाव !

बुध ग्रह को मजबूत करने के लिए करें ये उपाय

  • हरा रंग अथवा ग्रीन कलर के सभी शेड्स के कपड़े पहन सकते हैं।
  • बहन, बेटी और छोटी कन्या का सम्मान करें और उन्हें उपहार भेंट में दें।
  • भगवान विष्णु और भगवान बुध की आराधना करें।
  • श्री विष्णुसहस्रनाम स्तोत्र का जाप करें।
  • व्यापार में धन लाभ और गृह क्लेश को खत्म करने के लिए बुधवार के दिन व्रत रखें।
  • बुध ग्रह से संबंधित वस्तुएँ (हरी घास, साबुत मूंग, पालक, कांस्य के बर्तन, नीले रंग के पुष्प, हरे व नीले रंग के कपड़े) को बुधवार के दिन दान करें।
  • बुध ग्रह से शुभ फल प्राप्ति हेतु बुध बीज मंत्र का जाप करें। 

ॐ ब्रां ब्रीं ब्रौं सः बुधाय नमः!

  • वैदिक ज्योतिष अनुसार बुध ग्रह को मजबूत करने के लिए या बुध ग्रह की शांति के लिए व्यक्ति को पन्ना रत्न धारण करना चाहिए। 

यह भी पढ़ें –

इस बार नवरात्रि पर बन रहे हैं ये शुभ संयोग, देवी उपासना का फल मिलेगा दोगुना !

नाम के पहले अक्षर में छिपे हैं आपके ज़िंदगी के कई राज़!

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.