यहां आधी रात के बाद की जाती है माँ की पूजा, पूरी होती है हर कामना !

चारों तरफ शक्ति की उपासना का पर्व नवरात्रि की धूम है। माँ दुर्गा के विभिन्न मंदिरों में इस दौरान भक्तों की हज़ारों लाखों की संख्या में भीड़ उमड़ती है। देश के विभिन्न कोनों से भक्त देवी माँ के विभिन्न मंदिरों में उनके दर्शन के लिए आते हैं। आज हम आपको माँ दुर्गा के एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जहाँ देवी माँ का दर्शन यदि आधी रात को की जाए तो इससे व्यक्ति के सभी मनोकामनाओं की पूर्ति होती है। आइये जानते हैं देवी माँ के इस प्रसिद्ध मंदिर के बारे में। 

बिहार, पटना में स्थित है देवी माँ का ये प्रसिद्ध मंदिर 

गौरतलब है की, देवी माँ के जिस मंदिर की बात हम कर रहे हैं वो असल में बिहार की राजधानी पटना में स्थित पाटन देवी मंदिर है। इस मंदिर को प्रमुख शक्तिपीठों में से एक माना जाता है, पौराणिक तथ्यों के आधार पर ऐसी मान्यता है कि, यहाँ माता सती का दाहिना जांघ गिरा था। इस मंदिर में माँ के तीन रूपों की मूर्तियां स्थापित है। यहाँ विशेष रूप से माँ महाकाली, माँ महालक्ष्मी और माँ सरस्वती की मूर्ति स्थापित है। इस मंदिर के परिसर में विशेष रूप से एक बड़ा खड्डा है जिसे पाटनदेवी खंदा के नाम से जाना जाता है। पुरातत्व विभाग का ऐसा दावा है की इस खड्डे से ही देवी माँ की तीनों प्रतिमाओं को निकाला गया था। यहाँ स्थित देवी माँ की तीनों प्रतिमाएं काले पत्थर से निर्मित है। इसके बारे में कहा जाता है की ये मूर्तियां सतयुग की है, मंदिर परिसर में एक भैरव देव का मंदिर भी है। 

आधी रात में माँ के दर्शन करने पर पूरी होती है हर कामना 

पटना के गुलजारबाग इलाके में स्थित पाटन देवी मंदिर में यूँ तो हर दिन भक्तों की भीड़ रहती है लेकिन नवरात्रि के दिनों में उनकी संख्या में ख़ासा इजाफ़ा देखने को मिलता है। इस मंदिर के बारे में भक्तों का ऐसा विश्वास है की, इन दिनों यदि आधी रात को माँ का दर्शन किया जाए तो देवी माँ हर मनोकामना पूरी करती हैं। यही कारण है की, दुर्गा पूजा के नौ दिनों में पाटन देवी माता के इस मंदिर के द्वार सारी रात खुली रहती है। ख़ासा चमत्कारों वाले इस मंदिर के प्रांगण में एक योनिकुंड है जिसके बारे में कहा जाता है की इसमें अर्पित की जाने वाली सभी सामग्री भूतल में चली जाती है। इस मंदिर की एक ख़ास विशेषता ये भी है की यहाँ तांत्रिक और और वैदिक दोनों विधि से पूजा अर्चना की जाती है। नवरात्रि के दौरान आधी रात को की जाने वाले आरती का भी ख़ासा महत्व है। यहाँ देवी की पूजा के लिए जो भी भक्त श्रद्धाभाव से आते हैं, माँ उनकी सभी मनोकामनाओं को जरूर पूरी करती हैं। 

ये भी पढ़ें : 

शारदीय नवरात्रि बन रहे हैं ये 6 विशेष योग, ऐसे करें मां की आराधना मिलेगा आशीर्वाद।

शनिदेव के प्रकोप से चाहते हैं बचना तो ना करें ये काम !

शारदीय नवरात्रि के दौरान देवी माँ को प्रसन्न करने के लिए करें ये ख़ास उपाय !

यहाँ जानें देवी सती के उन शक्तिपीठों के बारे में जिनके रहस्यों से आज भी अनजान हैं लोग!

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.