हथेली की इन रेखाओं में है वैवाहिक जीवन को सफल बनाने की चाभी!

ज्योतिष शास्त्र की एक लोकप्रिय विधा है- हस्त रेखा। हस्तरेखा के जरिए व्यक्ति के भूत, वर्तमान और भविष्य की जानकारी हासिल की जा सकती है। लेकिन आज इस लेख में हम आपको विवाह रेखा के बारे में बताएंगे, जो कोरोना काल में शादीशुदा लोगों के बीच बढ़ते लड़ाई-झगड़ों को रोकने और बिखरते रिश्ते को समेटने में आपकी मदद करेगा। साथ ही यह आपको अपने साथी के स्वभाव को समझने में भी आपकी मदद कर सकता है। तो चलिए जानते हैं हथेली में छिपे सुखद वैवाहिक जीवन के राज़ के विषय में-   

ज़िंदगी में चल रही कशमकश का जवाब जानने के लिए प्रश्न पूछे

कोरोना काल में शादीशुदा लोगों के बीच बढ़ते झगड़े

कोरोना के प्रकोप के कारण सभी लोग अपने-अपने घरों में पिछले कुछ महीनों से अपने परिवार, पति-पत्नी, बच्चों के साथ बंद हैं। सेहत और भविष्य की चिंता अधिकांश लोगों को परेशान कर रही है और तनाव में डाल रही है। ऐसे में इस तनाव का असर लोगों के रिश्तों पर भी पड़ रहा है। एक रिपोर्ट के अनुसार पिछले 2 महीनों से चल रहे लॉकडाउन के दौरान पति-पत्नी के बीच के झगड़ों में लगभग 60 प्रतिशत तक का इज़ाफ़ा हुआ है। इसका मुख्य कारण तनाव और घरेलू विवाद हैं। घरों में बंद रहने और कहीं न आने-जाने की वजह से पति-पत्नी एक दूसरे के साथ अधिक समय बिता रहे हैं। ऐसे में छोटी-छोटी बातों, जैसे घर का काम, सोच न मिलना, मूड स्विंग्स आदि जैसी चीज़ों पर नोक-झोंक हो रहे हैं और धीरे-धीरे ये मामूली विवाद लड़ाई का रूप ले रहे हैं, जिसके चलते रिश्ते में नकारात्मकता बढ़ती जा रही है।     

पाएँ 250+ पन्नों की रंगीन कुंडली और भी बहुत कुछ:  बृहत् कुंडली

विवाह रेखा का महत्व

विवाह रेखा से किसी भी व्यक्ति के प्रेम और वैवाहिक जीवन पर विचार किया जाता है और जानकारों के मुताबिक स्त्री हो या पुरुष, हथेली की इस रेखा से प्रेम प्रसंग और विवाह की संख्या तक मालूम किया जा सकता है। हस्त रेखा शास्त्र में विवाह रेखा का बड़ा महत्व है, क्योंकि हर व्यक्ति अपनी शादी और भावी जीवन साथी के बारे में जानने की जिज्ञासा रखता है। हथेली पर उभरी विवाह रेखा में कई राज़ छुपे होते हैं। मसलन आपकी शादी कब होगी, लव मैरिज होगी या अरेंज मैरिज होगी, क्या आपकी किस्मत में दो शादियों का योग है? ये सभी ऐसी बातें हैं जो युवाओं की उत्सुकता को बढ़ाती है।

हाथ में विवाह रेखा कहां होती है?

इतना सब जानने के बाद अब सवाल उठता है कि हाथ में विवाह रेखा कहां होती है? दरअसल कनिष्ठिका उंगली के नीचे, ह्रदय रेखा के ऊपर तथा बुध पर्वत पर हथेली के बाहरी ओर से आने वाली रेखा को विवाह रेखा कहते हैं।

जानें पार्टनर के साथ कितने मिलते हैं आपके गुण! अभी करें कुंडली मिलान 

कैसे जानें किस उम्र में होगी शादी?

छोटी उंगली की रेखा और ह्रदय रेखा के बीच की दूरी की गणना करके, इस बात का पता लगाया जा सकता है कि व्यक्ति की शादी किस उम्र में होगी? इन दोनों रेखाओं के बीच की दूरी लगभग 50 वर्ष तक का बोध कराती है।

  • यदि विवाह रेखा इस दूरी के मध्य में हो, तो इसका मतलब है कि आपकी शादी 25 वर्ष की आयु के आसपास होगी और यदि विवाह रेखा, ह्रदय रेखा के पास हो, तो आपकी शादी 25 वर्ष से पहले भी हो सकती है अत: ऐसी स्थिति में कम उम्र में विवाह के योग बनते हैं।

हस्त रेखा में सफल वैवाहिक जीवन के संकेत

  • एक स्पष्ट विवाह रेखा जिसमें कोई टूट-फूट ना हो या कोई द्वीप उपस्थित हो, इसका मतलब है कि आपका वैवाहिक जीवन बहुत ही अच्छा रहने वाला है।
  • यदि विवाह रेखा के आसपास कुछ छोटी रेखाएं हैं तो यह वैवाहिक जीवन में प्यार और रोमांस को दर्शाती है।
  • यदि विवाह रेखा से फूटकर दो रेखाएं बनती है, तो यह विवाह में देरी या वैवाहिक जीवन में निराशा को दर्शाती है।
  • यदि विवाह अंत में जाकर फूटती है और दो रेखाएं बनती है तो यह वैवाहिक जीवन में अलगाव को प्रकट करती है।
  • यदि विवाह रेखा गर्डल ऑफ वीनस को क्रॉस करती है, तो इसका मतलब है कि आपका प्रियतम चिड़चिड़ा होगा।

जानें अपनी कुंडली में शनि का प्रभाव और पाएँ कुंडली आधारित सटीक शनि रिपोर्ट

विवाह रेखा से संबंधित अन्य विचार

हथेली पर चार जगहों से विवाह रेखा को देखा और पढ़ा जा सकता है:

  • बुध पर्वत पर विवाह रेखा लंबी, स्पष्ट और आसानी से पढ़ी जाने वाली होनी चाहिए। छोटी रेखाएं रिश्तों में कामुक विचार के प्रभाव को दर्शाती है। वह रेखा या रेखाएं जो ह्रदय रेखा के बराबर चलती है इन्हें संघ रेखाएं कहा जाता है और ये विवाह रेखा के तौर पर ज्यादा प्रसिद्ध है।
  • ये रेखाएं जीवन रेखा से उदय होती हैं
  • शुक्र पर्वत से गुजरती हैं
  • चंद्र पर्वत से आने वाली रेखाएं और भाग्य रेखा का स्पर्श कर रही रेखाएं। इन रेखाओं को एक-दूसरे को काटना नहीं चाहिए।
  • यदि उपरोक्त स्थितियां नहीं बनती है या मेल नहीं खाती है, तो यह नहीं कहा जा सकता है कि शादी नहीं होगी बल्कि यह अनुमान लगाया जा सकता है कि रेखाओं का निर्माण भविष्य में हो सकता है।
  • यदि हथेली पर मौजूद बहुत सी स्पष्ट रेखाएं शुक्र पर्वत से अलग-अलग दिशाओं में जा रही है। इसका मतलब है कि प्यार के मामले में व्यक्ति थोड़े अलग स्वभाव का होगा। इस बात की संभावना भी है कि उस व्यक्ति को प्यार में धोखा भी मिल सकता है।

कोरोना काल की इस मुश्किल घड़ी में पति-पत्नी को एक-दूसरे की ताकत बनने की ज़रूरत है, न कि कमज़ोरी। किसी अपने का साथ मिल जाने पर इन्सान बुरे समय से भी आसानी से निकल जाता है। तो प्रेम-भाव से रहें और एक दूसरे की भावनाओं को समझने की कोशिश करें। और आने वाले समय के लिए मिलकर अच्छी यादें बनाएं। उम्मीद करते हैं कि हमारे इस लेख को पढ़ने के बाद एक दूसरे को समझने में आपको मदद मिलेगी

एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े रहने के लिए आपका धन्यवाद!  

कॉग्निएस्ट्रो आपके भविष्य की सर्वश्रेष्ठ मार्गदर्शक

आज के समय में, हर कोई अपने सफल करियर की इच्छा रखता है और प्रसिद्धि के मार्ग पर आगे बढ़ना चाहता है, लेकिन कई बार “सफलता” और “संतुष्टि” को समान रूप से संतुलित करना कठिन हो जाता है। ऐसी परिस्थिति में पेशेवर लोगों के लिये कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट मददगार के रुप में सामने आती है। कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट आपको अपने व्यक्तित्व के प्रकार के बारे में बताती है और इसके आधार पर आपको सर्वश्रेष्ठ करियर विकल्पों का विश्लेषण करती है।

 

इसी तरह, 10 वीं कक्षा के छात्रों के लिए कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट उच्च अध्ययन के लिए अधिक उपयुक्त स्ट्रीम के बारे में एक त्वरित जानकारी देती है।

 

 

जबकि 12 वीं कक्षा के छात्रों के लिए कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट पर्याप्त पाठ्यक्रमों, सर्वश्रेष्ठ कॉलेजों और करियर विकल्पों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराती है।

 

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

8 टिप्पणियाँ

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.