दुर्गा बीसा यंत्र: नवरात्रि में स्थापना से होगा आपकी हर समस्या का अंत

नवरात्रि शुरू हो चुकी है। 13 अप्रैल से शुरू हुई नवरात्रि का समापन 22 अप्रैल को होगा। नौ दिनों तक चलने वाले इस पर्व को लेकर माता के भक्तों के बीच काफी उत्साह रहता है। ऐसे में आज हम आपको माता की कृपा हासिल करने के लिए एक यंत्र के बारे में बताने जा रहे हैं जो अगर आपके साथ या आपके घर के पूजा स्थल पर मौजूद रहे तो इसका मतलब है कि माता भगवती का आशीर्वाद आप पर बना हुआ है। 

जीवन की दुविधा दूर करने के लिए विद्वान ज्योतिषियों से करें फोन पर बात और चैट

सनातन धर्म में मंत्रों और यंत्रों का बड़ा महत्व है। मंत्रों को देवी-देवताओं की आत्मा का दर्जा प्राप्त है जबकि यंत्रों को उनका शरीर माना जाता है। यही वजह है कि माता भगवती के भक्तों के बीच माँ दुर्गा बीसा यंत्र का बड़ा महत्व है। मान्यता है कि यह यंत्र माता के भक्तों के सारे कष्ट हर लेता है। इसके साथ ही इस यंत्र के और भी फायदे हैं जिसका जिक्र हम आगे करने वाले हैं लेकिन उससे पहले माँ दुर्गा बीसा यंत्र के बारे में थोड़ी सी और जानकारी आपको दे देते हैं।

कैसा होता है माँ दुर्गा बीसा यंत्र?

माँ दुर्गा बीसा यंत्र का आकार त्रिभुज होता है। इस यंत्र के केंद्र के आसपास नौ और तरीकों बने होते हैं। इन त्रिकोणों को इस प्रकार बनाया जाता है कि देखने में ये सारे त्रिकोण एक ही जान पड़ते हैं। श्री दुर्गा बीसा यंत्र के बीचों बीच “दुं” लिखा होता है और बाकी के अलग-अलग खाकों में एक से लेकर नौ तक की संख्या लिखी होती है। इस यंत्र के तीन ओर “ॐ दुं दुं दुं दुर्गायै नमः” मंत्र लिखा होता है।

बाजार में श्री दुर्गा बीसा यंत्र आपको अलग-अलग धातुओं से निर्मित और सिद्ध किया हुआ मिल जाएगा। लेकिन आप इस यंत्र को घर में भी तैयार कर सकते हैं। घर में माँ दुर्गा बीसा यंत्र को तैयार करने के लिए सबसे पहले आप एक अनार की लकड़ी से कलम बना लें। फिर एक भोजपत्र पर अष्टगंध की स्याही से माँ दुर्गा बीसा यंत्र की आकृति बना लें। इसके बाद इस यंत्र की षोडशोपचार से पूजा करें। तत्पश्चात यंत्र को दुर्गा सप्तशती के मंत्र से सिद्ध करना होता है। उसके बाद यंत्र को “ॐ दुं दुं दुं दुर्गायै नमः” मंत्र के जाप से सिद्ध कीजिए। 

यंत्र के सिद्ध होने के बाद किसी चांदी के ताबीज में इसे डाल कर आप इस यंत्र को अपने गले या फिर बांह पर धारण कर सकते हैं। आप इसे अपने पूजा स्थल पर किसी चांदी की डिबिया में भी रख सकते हैं।

यह भी पढ़ें: Durga Chalisa: दुर्गा चालीसा के पाठ से पाएं शत्रुओं पर विजय और आर्थिक उन्नति

श्री दुर्गा बीसा यंत्र का महत्व

  • श्री दुर्गा बीसा यंत्र हर प्रकार के संकट से आपकी रक्षा करता है। न सिर्फ आपकी बल्कि आपके पूरे परिवार पर आ रहे किसी भी तरह के संकट को दूर करता है।
  • इस यंत्र को घर या ऑफिस में रखने वाले जातकों को किसी भी प्रकार के धन की हानि न होने की संभावना प्रबल हो जाती है।
  • माँ दुर्गा को शक्ति की देवी कहा जाता है और चूंकि श्री दुर्गा बीसा यंत्र उनसे ही जुड़ा यंत्र है। इस वजह से इस यंत्र को धारण करने वाले जातक के सभी शत्रुओं का नाश होता है।
  • अगर आपकी बार-बार दुर्घटना हो रही है या फिर कुंडली में किसी प्रकार के दुर्घटना का योग बन रहा है तो आप श्री दुर्गा बीसा यंत्र को अपने घर में जरूर रखें और इसकी पूजा करें।
  • श्री दुर्गा बीसा यंत्र किसी भी प्रकार की बुरी व काली शक्तियों का प्रभाव बिलकुल शून्य कर देता है।

आप इस यंत्र को अपने ऑफिस, घर, दुकान, दुकान के रिसेप्शन, पूजा स्थल या फिर गले और बांह पर धारण भी कर सकते हैं। धन लाभ के लिए बहुत से जातक इस यंत्र को अपने पर्स या फिर तिजोरी में भी रखते हैं।

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह लेख जरूर पसंद आया होगा। अगर ऐसा है तो आप इस लेख को अपने अन्य शुभचिंतकों के साथ जरूर साझा करें। धन्यवाद!

Spread the love

Astrology

Dharma

विष्णु मंत्र - Vishnu Mantra

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

12 Jyotirlinga - 12 ज्योतिर्लिंग

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

सिद्ध कुंजिका स्तोत्र - Kunjika Stotram: दुर्गा जी की कृपा पाने का अचूक उपाय

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

51 Shakti Peeth - 51 शक्तिपीठ

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

बजरंग बाण: पाठ करने के नियम, महत्वपूर्ण तथ्य और लाभ

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.