आज का पंचांग 26 फरवरी: जानें शुभ मुहूर्त और राहुकाल का समय

आज 26 फरवरी 2021 के पंचांग के बारे में यहाँ हम आपको बताने जा रहे हैं। यहाँ आपको आज  के शुभ मुहूर्त, राहुकाल, नक्षत्र, करण, वार, सूर्योदय का समय, सूर्यास्त का समय, चंद्रोदय का समय, चन्द्रास्त का समय आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दे रहे हैं। आइये जानते हैं आज के पंचांग में क्या है महत्वपूर्ण।  

पंचांग क्या है ?

पंचांग संस्कृत के एक शब्द पञ्चाङ्गम लिया गया है। इसका अर्थ है पांच भागों से बनी कोई चीज़। पंचांग भी प्रमुख रूप से पांच भागों से बना है जो है वार, तिथि, योग, नक्षत्र और करण। इसके अलावा आप पंचांग की मदद से पक्ष, ऋतु और माह की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। दैनिक पंचांग की मदद से आप खासतौर से किसी भी शुभ कार्य को करने से पहले उस दिन के शुभ समय के बारे में जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। ऐसा कर आप किसी भी काम में सफलता प्राप्त कर सकते हैं। 

आज  का पंचांग 

आज  की तिथि : चतुदर्शी15:51:46 तक 

आज  का नक्षत्र : आश्लेषा – 12:33:51

आज  का करण : वणिज – 15:51:46 तक, विष्टि- 26:53:58 तक

आज  का पक्ष :    शुक्ल

आज  का योग:    अतिगंड 22:34:42 तक

आज  का वार: शुक्रवार

आज  सूर्योदय-सूर्यास्त और चंद्रोदय-चंद्रास्त का समय

सूर्योदय का समय : 06:49:56

सूर्यास्त का समय : 18:18:45

चंद्रोदय का समय: 17:21:00

चंद्रास्त का समय : चन्द्रास्त नहीं

चंद्र राशि : कर्क- 12:35:51 तक

ऋतु : बसंत

हिंदू महीने और साल

शक सम्वत : 1942   शार्वरी

विक्रम सम्वत : 2077

काली सम्वत : 5122

दिन काल : 11:28:48

मास अमांत : माघ

मास पूर्णिमांत : माघ

शुभ मुहूर्त : 12:11:23 से 12:57:18 तक

आज  का अशुभ मुहूर्त

दुष्टमुहूर्त: 09:07:42 से 09:53:37 तक, 12:57:18 से 13:43:13 तक

कुलिक: 09:07:42 से 09:53:37 तक

कंटक: 13:43:13 से 14:29:08 तक

राहु काल: 09:45:25 से 11:10:17 तक

कालवेला / अर्द्धयाम: 15:15:04 से 16:00:59 तक

यमघण्ट: 16:46:54 से 17:32:49 तक

यमगण्ड: 15:26:33 से 16:52:39 तक

गुलिक काल: 08:16:03 से 09:42:09 तक

Astrology

Dharma

विष्णु मंत्र - Vishnu Mantra

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

12 Jyotirlinga - 12 ज्योतिर्लिंग

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

सिद्ध कुंजिका स्तोत्र - Kunjika Stotram: दुर्गा जी की कृपा पाने का अचूक उपाय

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

51 Shakti Peeth - 51 शक्तिपीठ

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

बजरंग बाण: पाठ करने के नियम, महत्वपूर्ण तथ्य और लाभ

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.