शुक्र का कुंभ राशि में गोचर जानिए सभी राशियों पर प्रभाव।

सौर मंडल के सभी नौ ग्रहों में से शुक्र ग्रह को सबसे शुभ ग्रह का दर्जा दिया गया है। जिनके शुभ प्रभावों से ही मनुष्य को जीवन के सभी प्रकार के भौतिक सुखों का आनंद प्राप्त होता है। इसके साथ ही शुक्र देव की असीम कृपा से ही एक व्यक्ति को कई अन्य प्रकार की सुख  सुविधाओं की प्राप्ति होती है। जातक का दांपत्य जीवन भी शुक्र की दृष्टि से ही प्रभावित होता है। ऐसे में हर बार की तरह एक बार फिर यही शुक्र देव आपना स्थान परिवर्तन करते हुए मकर से कुम्भ राशि में विराजमान हो रहे हैं। ऐसे में आइए जानते है शुक्र के इस गोचर का हर राशि पर क्या होगा प्रभाव।

क्या आपके जीवन पर भी है शनि का साया: अभी खरीदें शनि रिपोर्ट

विशेष : यह राशिफल आपकी लग्न राशि के आधार पर है। अपनी लग्न राशि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें: अपनी लग्न राशि ज्ञात कीजिए

मेष राशि

शुक्र देव आपकी राशि के ग्यारहवें भाव में गोचर करेंगे जिससे आपको धन की प्राप्ति होगी। आपके जीवन में बहुत सी ख़ुशियाँ आने के आसार नजर आ रहे हैं। शुक्र का यह गोचर आपके लिए शुभ रहेगा, जिससे आपकी महत्वाकांक्षाओं की पूर्ति होगी। आप अपनी किसी इच्छा को पूरा करने में सफल रहेंगे, जिससे आपको आनंद की प्राप्ति होगी। इस समय आप प्रेम के सागर में हिचकोले खाते भी दिखाई देंगे। प्रेम जीवन के लिए भी समय अच्छा रहेगा।

उपायः आप को विशेष लाभ प्राप्त करने के लिए शुक्रवार के दिन माता महालक्ष्मी की उपासना करनी चाहिए ।

वृषभ राशि

शुक्र देव आपकी राशि के कर्म भाव यानी कि आपके दशम भाव में गोचर करेंगे। जिसके परिणाम स्वरूप आपके पारिवारिक जीवन में सुख और शांति आएगी। यदि परिवार के सदस्यों से किसी बात पर विवाद चल रहा था तो वह भी इस समय सफलतापूर्वक हाल हो पाएगा। संतान को शिक्षा संबंधित कुछ चिंताएं सता सकती हैं। इस समय आपको अपने स्वास्थ्य का भी ध्यान रखने की जरूरत होगी। कार्य स्थान पर आप पहले से अधिक मेहनत करने की सलाह दी जाती है।

उपायः आपको शुक्र देव की अनुकूलता प्राप्त करने के लिए उत्तम गुणवत्ता का ओपल रत्न शुक्रवार के दिन चांदी की अंगूठी में अनामिका उंगली में धारण करना चाहिए।

मिथुन राशि

शुक्र के कुंभ राशि में गोचर के दौरान ये आपके नवम भाव में संचरण करेगा, जिससे आपके जीवन में आपको भाग्य का साथ मिलेगा। गोचर के शुभ प्रभाव से आपके अटके पड़े सारे काम बनते नजर आएँगे। आपको शुभ समाचारों की प्राप्ति होगी। पारिवारिक एवं प्रेम जीवन सुखी रहेगा। आप परोपकार के कामों में बढ़-चढ़कर हिस्सा लेंगे, जिस दौरान आप अपना धन खर्च करते भी नजर आएँगे। यात्राएं करने का भी मौका मिलेगा, जिससे आपको लाभ होने की संभावना दिख रही है।

उपायः शुक्र देव की कृपा प्राप्ति के लिए श्री दुर्गा सप्तशती का नियमित पाठ करें।

कर्क राशि

कर्क राशि के जातकों के लिए शुक्र का यह गोचर कई परिवर्तन लेकर आने वाला है, क्योंकि इस गोचर के दौरान शुक्र आपके आठवें घर में विराजमान होंगे जिससे आपके साथ अचानक कई घटनाएं घट सकती हैं। आपके ख़र्चों में अचानक से वृद्धि होगी। ऐसे में आपको अपना धन संचय करने की ओर ध्यान देने की आवश्यकता पड़ सकती है। आपका मानसिक तनाव भी बढ़ेगा। जिससे आप कुछ चिढ़-चिढ़ापन महसूस कर सकते हैं। तीर्थ यात्रा पर जाने का अवसर मिलेगा। इस दौरान आपको अंदरूनी शांति की अनुभूति हो सकेगी।

उपायः शुक्रवार के दिन किसी महिला पुजारी को श्रृंगार की सामग्री भेंट करना आपके लिए फायदेमंद रहेगा।

सिंह राशि

शुक्र देव आपकी राशि के सातवें घर में गोचर कर रहे हैं, जिस दौरान आपको अपने जीवन की साझेदारी अर्थात वैवाहिक जीवन से जुड़ी फलों की प्राप्ति होगी। यदि आप किसी को पसंद करते हैं तो इस दौरान आप उनसे अपने प्रेम का इज़हार करते नजर आएँगे, जिसमें आपको सफलता भी मिलेगी। यदि आप सिंगल हैं और विवाह के बंधन में बंधना चाहते हैं तो आपके विवाह होने की संभावना भी इस समय बनती नजर आ रही है। वहीं वैवाहिक जातकों को अपने जीवन साथी का साथ मिलेगा। व्यापारियों को खासतौर से पार्टनर शिप से जुड़े जातकों को थोड़ा सावधान रहने की जरूरत है, अन्यथा कुछ हानि होती दिखाई दे रही है।

उपायः आप को शुक्रवार के दिन गौमाता को आटे की लोई अपने हाथ से खिलानी चाहिए।

कन्या राशि

कन्या राशि वाले जातकों के लिए यह गोचर थोड़ा नकारात्मक साबित हो सकता है, क्योंकि इस गोचर के दौरान शुक्र देवआपके छठे घर में संचरण करेंगे, जिससे दौरान आपके स्वास्थ्य और विरोधियों में वृद्धि होगी। आपको अच्छे परिश्रम के बाद ही सफलता प्राप्त होगी। यदि आप मेहनत करे बिना ही अच्छे फसलों की उम्मीद लगा कर बैठे तो आपके लिए समय थोड़ा प्रतिकूल साबित होने वाला है। उर्जा की कमी रहेगी जिससे आपको ही बड़े निर्णय लेने में खुद को असफलता मिलेगी। इस दौरान आपके लिए बेहतर होगा कि किसी भी तरह के गैर-कानूनी कार्यों से खुद को दूर रखें अन्यथा परेशानी में पड़ सकते हैं।

उपायः विशेष लाभ प्राप्ति के लिए आपको दुर्गा चालीसा का पाठ करना चाहिए और मां दुर्गा को लाल पुष्प अर्पित करने चाहिए।

पढ़ें : शुक्र ग्रह के उपाय! 

तुला राशि

शुक्र देव आपकी राशि के पांचवें घर में गोचर कर रहे हैं, जिस दौरान आपको अपने जीवन में बहुत सी ख़ुशियाँ मिलेंगी। इस दौरान आपके जीवन में समृद्धि आएगी, जिससे आप सफलता हासिल कर पाने में सफल रहेंगे। हालांकि आपको इस दौरान ज्यादा खुशी मिलने के चलते अपने अहंकार पर काबू रखने की जरूरत होगी अन्यथा परेशानी बढ़ सकती है। आप अपनी इच्छाओं की पूर्ति के लिए के प्रयास करते नजर आएँगे। विवाहित जातकों को अपने रिश्ते में थोड़ा धैर्य रखने की जरूरत होगी अन्यथा जीवन साथी से बहस या झगड़ा संभव है।

उपायः शुक्र के प्रभावों को बढ़ाने के लिए शुक्रवार के दिन शुक्र यंत्र धारण करें।

वृश्चिक राशि

शुक्र देव आपकी राशि के चौथे भाव में संचरण कर रहे हैं जिस दौरान आपको पारिवारिक जीवन में ख़ुशियाँ मिलेंगी। आपको अपने परिवार का साथ मिलेगा जिससे माता-पिता भी आपका सहयोग करते नजर आएँगे। भाई-बहनों से आपके रिश्तों में मधुरता आएगी। साथ ही वैवाहिक जीवन में भी जीवन साथी की हर संभव मदद मिलने से आप कई बड़े कार्य करने में सफल रहेंगे। इस गोचर के दौरान आपको धन में भी ज़बरदस्त लाभ मिलेगा। आपको विदेशों से भी कोई अच्छी खबर मिल सकेगी।

उपायः विशेष लाभ के लिए शुक्रवार को लौंग वाला पान माता को अर्पित करें।

धनु राशि

शुक्र के गोचर के दौरान ये आपके तीसरे घर में विराजमान होंगे, जिससे आपको पहले से अधिक प्रयास करने की जरूरत होगी। आपको सफलता प्राप्त करने के लिए इस समय पहले से अधिक मेहनत करनी होगी अन्यथा परिणाम आपके पक्ष में नहीं आएँगे। जीवन में नए रिश्तों की शुरुआत हो सकती है। साथ ही आपकी किसी ऐसे शख्स से मुलाकात संभव है जो आगे चलकर आपका जीवन साथी बने। रचनात्मक कार्यों में वृद्धि होगी, जिससे आप कुछ हद तक धन अर्जित करने में भी सफल रहेंगे।

उपायः शुक्र के हानिकारक प्रभाव से बचने के लिए शुक्रवार के दिन चीनी दान में दें।

मकर राशि

मकर राशि के जातकों के लिए शुक्र का यह गोचर अच्छे फल लेकर आने वाला है क्योंकि ये इस गोचर के दौरान आपकी राशि के दूसरे भाव में संचरण करेगा, जिससे आप धन संचय कर पाने में सफल रहेंगे। आप जिस भी कार्य को करेंगे उसमें सफलता हासिल कर सकेंगे। शादी विवाह या किसी मांगलिक कार्यक्रम का आयोजन हो सकेगा। जिससे घर का माहौल भी ख़ुशियों भरा महसूस होगा। आपको नए-नए पकवान खाने का मौका मिलेगा। घर में मेहमानों का आना जाना लगा रहेगा जिससे आपके भी मान सम्मान में वृद्धि होगी।

उपायः शुक्र के प्रभाव को और भी अनुकूल बनाने के लिए गणेश जी की पूजा करें और उन्हें दूर्वांकुर (दूब घास) चढ़ाएँ।

कुंभ राशि

कुंभ राशि में ही शुक्र का गोचर हो रहा है जिससे ये आपकी राशि के प्रथम भाव को प्रभावित करेगा। इस गोचर के दौरान आपके मन में प्यार और स्नेह बढ़ेगा। आप दूसरों के प्रति सदभावना रखेंगे, जिससे आपके मान-सम्मान में वृद्धि होगी। आपके शारीरिक सौंदर्य में भी वृद्धि नजर आएगी। आपके चेहरे पर एक अलग ही चमक इस समय दिखाई देगी, जिससे आप दूसरों को आकर्षित कर पाने में सफल रहेंगे। जीवन साथी के साथ आप सुंदर पलों का आनंद लेंगे। प्रेम जीवन के लिए भी समय बेहद अच्छा साबित होगा।

उपायः शुक्र देव की विशेष कृपा प्राप्ति के लिए आपको अरंड मूल धारण करनी चाहिए।

मीन राशि

शुक्र आपकी राशि के द्वादश भाव में संचरण करेगा, जिस दौरान आपको सुदूर यात्राओं पर जाना पड़ सकता है। इस यात्रा से आपके ख़र्चों में वृद्धि होगी। अगर संभव हो तो आपको अभी हर तरह की यात्राओं से बचने की सलाह दी जाती है। आप अपने सुखों को भोगने की लालसा में हर संभव प्रयत्न करते नजर आएँगे। घर परिवार का साथ प्राप्त होगा। हालांकि इसके बाद भी आपको सुख की अनुभूति थोड़ी कम ही होगी। प्रेम के साथ समय बिताने का मौका मिलेगा।

उपायः विशेष लाभ के लिए प्रत्येक शुक्रवार के दिन मिश्री का दान करें।

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.