17 मार्च को उच्च राशि में होगा शुक्र का गोचर, क्या होगा मीन राशि पर प्रभाव?

ज्योतिष शास्त्र का मानना है कि, आपके और हमारे जीवन में जो कुछ घट रहा होता है, उसका सीधा-सीधा वास्ता ग्रहों की स्थिति और चाल से होता है। यही वजह है कि, ज्योतिष शास्त्र और हिन्दू धर्म में ‘गोचर’ हमेशा से एक बेहद ही महत्वपूर्ण प्रक्रिया मानी जाती रही है। सीधे शब्दों में गोचर को अगर समझना है तो इतना समझिये कि, किसी ग्रह का किसी भाव में प्रवेश करने की प्रक्रिया को हम गोचर कहते हैं। 

अब आप पूछेंगे कि, भाव क्या बला है। तो चलिए इसे भी आपको आम भाषा में समझा देते हैं। अगर आपने कभी भी किसी भी कुंडली पर सरसरी निगाह भी डाली है तो आपने पाया होगा कि कुंडली में कई घर/खांके बने होते हैं। इन्हीं खाकों को भाव कहते हैं और हमारे ग्रह इन्हीं खाकों में भ्रमण करते हैं और इसी भ्रमण की प्रक्रिया को गोचर कहा जाता है। ऐसे में किसी भी गोचर का आपके जीवन पर सीधा-सीधा प्रभाव पड़ता है। 

एस्ट्रोसेज वार्ता से दुनियाभर के विद्वान ज्योतिषियों से करें फोन पर बात

अब ऐसा ही कुछ होने वाला है 17 मार्च 2021 यानी की बुधवार के दिन। इस दिन शुक्र ग्रह अपनी उच्च राशि मीन में गोचर कर रहा है। आपको बता दें कि, जब कोई ग्रह अपनी उच्च राशि में गोचर करता है तो वो ग्रह उस राशि के व्यक्ति के लिए वरदान का काम करता है। 

ऐसे में आज हम आपको बताएंगे कि, अगर आप मीन राशि के व्यक्ति हैं तो उच्च राशिगत शुक्र ग्रह का यह गोचर आपके जीवन पर क्या प्रभाव डालने वाला है।

17 मार्च 2021 को शुक्र ग्रह मीन राशि में गोचर कर रहा है। शुक्र ग्रह सभी ग्रहों में सबसे चमकीला ग्रह है। चमकीला यानी कि चकाचौंध कर देने वाली चीज। असल ज़िन्दगी में अगर आपसे पूछा जाए कि वो पहला शब्द बताइये जो आपके दिमाग में ‘चकाचौंध कर देने वाली दुनिया’ सुनते ही आता है तो आपमें से ज्यादातर लोगों का जवाब ग्लैमर होगा। बस यही काम है शुक्र ग्रह का। शुक्र ग्रह आपको भौतिक सुखों से भर देता है। यही वजह है कि मीन राशि में शुक्र का गोचर मीन राशि के व्यक्ति को भौतिक सुख-सुविधाओं से भर देने वाला होगा। .

आपकी कुंडली में है कोई दोष? जानने के लिए अभी खरीदें एस्ट्रोसेज बृहत् कुंडली

कब से कब तक है शुक्र गोचर की अवधि:

कब से: 17 मार्च 2021 

दिन: बुधवार

समय: 2 बजकर 49 मिनट से

कब तक: 10 अप्रैल 2021 तक

दिन: शनिवार

समय: 06  बजकर 15 मिनट

क्या कमाल करने वाला है शुक्र ग्रह?

शुक्र ग्रह के मीन राशि में गोचर के साथ ही मीन राशि के व्यक्तियों के जीवन में दाम्पत्य, वाहन, भवन, भूमि आदि के सुख का आगमन होगा।  इस दौरान मीन राशि के व्यक्ति खुश रहेंगे। इनमें चंचलता आएगी और आत्मविश्वास का संचार होगा।

लव लाइफ

अगर आप मीन राशि के व्यक्ति हैं और फिलहाल सिंगल हैं और पार्टनर की तलाश में हैं तो अगली लाइन आपके बेहद काम की हो सकती है। वो इसलिए क्योंकि शुक्र ग्रह का गोचर आपके व्यक्तित्व को और भी ज्यादा आकर्षक बना देगा जिसकी वजह से आपके विपरीत लिंग वाले व्यक्ति आपसे आकर्षित होंगे। उम्मीद की जा सकती है कि आपको इस वजह से नए प्रस्ताव भी मिलें। 

साफ़-साफ कहें तो आप अपने आस-पास के लोगों के बीच आकर्षण का केंद्र बन जाएंगे। लेकिन खुशखबरी सिर्फ सिंगल लोगों के लिए ही नहीं है बल्कि, दाम्पत्य जीवन जीने वाले जातकों के लिए भी शुक्र ग्रह बेहद सुन्दर परिणाम लेकर आएगा। इस दौरान दाम्पत्य जीवन जीने वाले कपल्स की एक-दूसरे से नजदीकियां बढ़ेंगी। वे साथ में बेहद क्वालिटी टाइम बिताएंगे। सम्बन्ध अगर खराब हैं तो मधुरता आएगी। वे पुरानी यादों को फिर से एक बार जीवित होते हुए पाएंगे । 

करियर

अगर आप मीन राशि के व्यक्ति हैं और व्यापार करते हैं तो हमारी अग्रिम शुभकामनाएं स्वीकार कीजिए । ऐसा इसलिए क्योंकि इस समय के दौरान आपकी आमदनी स्थिर रहेगी और वित्तीय तौर पर आप मजबूत होंगे। आपके व्यवसाय में आ रही समस्या को हल करने की क्षमता में अभूतपूर्व तरीके से इजाफा होगा। इस समय के दौरान आपके लगभग हर फैसले की प्रशंसा की जाएगी। 

भूमि, भवन और वाहन में वृद्धि होगी। कुल मिला कर बात ये कि, व्यापारियों की चांदी होने वाली है। यह समय मीन राशि  वाले व्यक्तियों के लिए अनुसंधान से जुड़ा हुआ काम (जिसमें डेटा विश्लेषण करना होता है) शुरू करने का बेहद शुभ समय है। तो अगर आप कुछ ऐसा करने की सोच रहे हैं तो देर मत कीजिए, आपका सही समय आ चुका है।   

शिक्षा 

मीन राशि के जातकों के स्वामी बृहस्पति होते हैं। बृहस्पति ग्रहों के बीच गुरु का दर्जा रखते हैं। बृहस्पति ज्ञान का संचार करते हैं । ऐसे में मीन राशि के जातकों के लिए शुक्र का गोचर उनके शिक्षा क्षेत्र के लिए बेहद लाभदायक रहने वाला है। प्राथमिक स्तर के बच्चों से लेकर प्रतियोगी परीक्षाओं में शामिल होने वाले छात्र तक इससे लाभान्वित होंगे। 

अगर आप प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे छात्र हैं तो आपको इसमें सफलता मिल सकती है। साथ ही साथ जो छात्र अभी अपने शिक्षा छेत्र को लेकर दुविधा में हैं कि कौन सी फील्ड चुनें या कौन से स्ट्रीम को चुनना है या फिर शिक्षा छेत्र से जुड़े हर चयन के फैसले के लिए यह समय बेहद ही अनुकूल या फिर कहें तो शुभ रहने वाला है।  

स्वास्थ्य

बस इस एक जगह मीन राशि के जातकों को इस अवधि के दौरान थोड़ा ध्यान देने की जरुरत है। इस समय के दौरान मीन राशि के जातकों का स्वास्थ्य कमजोर सकता है। कई तरह की शारीरिक बीमारियों का आपको सामना करना पड़ सकता है। कोशिश करें कि इस दौरान अपने स्वास्थ्य का बहुत ख़याल रखें, फिटनेस का ध्यान रखें और साथ ही साथ खान-पान का भी विशेष रूप से ध्यान रखें। वरना अस्पताल और डॉक्टर्स के चक्कर लगाने पड़ सकते हैं।

नोट: इन सब के अलावा एक बात और है जिस पर बहुत ध्यान देने की जरूरत है। अन्य आचार्यों के मतानुसार (आचार्य डॉ सुनील बारमोला जी) इस दिन शुक्र के साथ-साथ मीन राशि में सूर्य ग्रह भी गोचर कर रहा है। जिस वजह से इस अवधि के शुरुआती समय में आपको मध्यम लाभ होगा लेकिन, जैसे-जैसे समय बढ़ता जाएगा आपको इस गोचर के बेहतर नतीजे मिलने लगेंगे। 

हमें उम्मीद है कि आपको हमारा यह लेख बेहद पसंद आया होगा। हम आशा करते हैं कि आप इसी तरह हमारे साथ बने रहेंगे।

Astrology

Dharma

विष्णु मंत्र - Vishnu Mantra

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

12 Jyotirlinga - 12 ज्योतिर्लिंग

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

सिद्ध कुंजिका स्तोत्र - Kunjika Stotram: दुर्गा जी की कृपा पाने का अचूक उपाय

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

51 Shakti Peeth - 51 शक्तिपीठ

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

बजरंग बाण: पाठ करने के नियम, महत्वपूर्ण तथ्य और लाभ

विष्णु मंत्र का प्रयोग सृष्टि के पालनहार भगवान विष्णु जी की आराधना के लिए होता है। जिस ...

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.