मंगल का कुम्भ राशि में गोचर, लाएगा सभी 12 राशियों के जीवन में बड़े बदलाव!

अग्नि तत्व प्रधान ग्रह कहे जाने वाला ग्रह मंगल, 04 मई 2020, सोमवार को शाम 07:59 पर वायु तत्व की राशि कहे जाने वाले कुम्भ राशि में प्रवेश करेंगे। वैदिक ज्योतिष में मंगल के राशि परिवर्तन को प्रभावी माना जाता है, क्योंकि मंगल का गोचर जीवन में बदलाव लाने के लिए जाना जाता है। लेकिन सवाल यह है कि यह गोचर आखिर किस तरह का बदलाव लाएगा! अग्नि तत्त्व प्रधान ग्रह मंगल का प्रवेश होगा कुम्भ राशि में, जो कि वायु तत्व प्रधान राशि है, ऐसे में वातावरण में गर्म हवाओं की वृद्धि होगी।

जीवन में किसी भी समस्या का समाधान जानने के लिए प्रश्न पूछें

फ़िलहाल देश-दुनिया में फैली महामारी से परेशान हैं, ऐसे में मंगल के कुम्भ राशि में गोचर का असर सभी 12 राशियों पर किसी न किसी रूप में अवश्य होगा। कुछ के जीवन में आएगी ख़ुशियों की लहर, तो कुछ के जीवन में छा जायेंगे संकट के बादल। तो चलिए विस्तार से जानते हैं कि कोरोना काल के समय हो रहे मंगल का गोचर आपकी राशि पर क्या प्रभाव दिखाने वाला है।

यह राशिफल आपकी चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र राशि जानने के लिए यहाँ क्लिक करें

मंगल गोचर- मेष राशि 

आपकी राशि का स्वामी मंगल आपके ग्यारहवें भाव में गोचर करेगा यह आपकी राशि से आठवें भाव का स्वामी भी है मंगल का गोचर आपके लिए अनुकूलताओं के द्वार खोल देगा और आपको अनेक अवसरों की प्राप्ति होगी इस गोचर काल में मंगल आपके लिए अनेक ….आगे पढ़ें 

मंगल गोचर- वृषभ राशि 

वृषभ राशि के लोगों के लिए मंगल का गोचर दशम भाव में होगा और यह आपके लिए कार्य क्षेत्र में सफलता के झंडे गाड़ने वाला समय होगा मंगल आपकी राशि के लिए सातवें तथा बारहवें भाव का स्वामी है मंगल की यह स्थिति गोचर काल में आपको कार्यक्षेत्र में….आगे पढ़ें

मंगल गोचर- मिथुन राशि 

मंगल का गोचर आपकी राशि से नवें भाव में होगा यह आपके लिए छठे तथा ग्यारहवें भाव का स्वामी है इस गोचर के परिणाम स्वरूप आपको कार्यक्षेत्र में कुछ समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है, क्योंकि आपका तबादला हो सकता है इस गोचर के प्रभाव से आपके….आगे पढ़ें

रोग प्रतिरोधक कैलकुलेटर से जानें अपनी रोग प्रतिरोधक क्षमता

मंगल गोचर- कर्क राशि 

कर्क राशि के अष्टम भाव में मंगल का गोचर होगा मंगल आपके पंचम भाव अर्थात त्रिकोण तथा दशम भाव अर्थात केंद्र भाव का स्वामी होकर आपके लिए योगकारक ग्रह है, इसलिए इसका गोचर काफी महत्वपूर्ण होगा मंगल के अष्टम भाव में गोचर करने से आपको स्वास्थ्य….आगे पढ़ें

मंगल गोचर- सिंह राशि 

सिंह राशि के लोगों के लिए मंगल एक योगकारक ग्रह हैं क्योंकि यह आपके चौथे (केंद्र भाव) तथा नवें (त्रिकोण भाव) के स्वामी हैं मंगल का गोचर आपकी राशि से सातवें भाव में होगा जो कि आपके लिए अधिक अनुकूल नहीं माना जाएगा इस गोचर के प्रभाव से आपके दांपत्य जीवन में ….आगे पढ़ें

मंगल गोचर- कन्या राशि 

आपकी राशि के लिए मंगल तीसरे तथा आठवें भाव का स्वामी होकर अधिक अनुकूल ग्रह नहीं है और यह आपकी राशि से छठे भाव में गोचर करेगा, जिसकी वजह से आपके प्रयासों में सफलता मिलेगी लेकिन स्वास्थ्य कमजोर रहेगा इस समय अवधि में आप रक्त….आगे पढ़ें

क्या आपकी कुंडली में हैं शुभ योग? जानने के लिए अभी खरीदें एस्ट्रोसेज बृहत् कुंडली

मंगल गोचर- तुला राशि

मंगल का गोचर तुला राशि के पांचवें भाव में आकार लेगा मंगल आपकी राशि के लिए दूसरे और सातवें भाव का स्वामी होने के कारण मारक भी है तथा पंचम भाव में मंगल का गोचर अनुकूल नहीं होता। इसी को ध्यान में रखते हुए कहा जा सकता है कि इस गोचर के परिणाम स्वरूप आपकी….आगे पढ़ें

मंगल गोचर- वृश्चिक राशि 

वृश्चिक राशि के लोगों का राशि स्वामी मंगल होता है, इसलिए इसका गोचर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण रहेगा। यह आपके छठे भाव का स्वामी भी है और मंगल का गोचर आपकी राशि से चौथे भाव में होगा, जहां इसकी स्थिति अधिक अनुकूल नहीं मानी जाती। इस स्थिति में आपको पारिवारिक….आगे पढ़ें

मंगल गोचर- धनु राशि 

धनु राशि के लोगों के लिए मंगल पंचम भाव तथा द्वादश भाव का स्वामी है। यह आपकी राशि के स्वामी बृहस्पति का परम मित्र है और गोचर के समय में आप के तीसरे भाव में प्रवेश करेगा। मंगल का गोचर तीसरे भाव में अनुकूल माना जाता है, इसलिए इस गोचर के प्रभाव से आप की ऊर्जा….आगे पढ़ें

मंगल गोचर- मकर राशि 

मकर राशि के लोगों के लिए मंगल सुख भाव अर्थात चतुर्थ तथा आय भाव अर्थात एकादश भाव का स्वामी है। मंगल का गोचर आपकी राशि से दूसरे भाव में होगा, जिससे आपकी आर्थिक उन्नति के दरवाज़े खुलेंगे और कम प्रयासों से ही आर्थिक सफलता प्राप्त होगी तथा आपका….आगे पढ़ें

सभी ज्योतिषीय समाधानों के लिए क्लिक करें: एस्ट्रोसेज ऑनलाइन शॉपिंग स्टोर

मंगल गोचर- कुंभ राशि 

मंगल का गोचर आपकी राशि से प्रथम भाव में होगा अर्थात आपकी ही राशि में मंगल का गोचर होने से आपको इस गोचर के विशेष प्रभाव मिलेंगे। मंगल आपकी राशि के लिए तीसरे और दसवें भाव का स्वामी है। इस गोचर के प्रभाव से आपके स्वभाव में….आगे पढ़ें 

मंगल गोचर- मीन राशि 

मीन राशि के लोगों के लिए मंगल दूसरे और नवें भाव का स्वामी होता है तथा मंगल का गोचर आपकी राशि से बारहवें भाव में होगा। इस गोचर के परिणाम स्वरूप आपको विदेशी स्रोतों से लाभ होगा और आप कार्य विशेष के लिए देश से बाहर गमन कर सकते हैं। यह गोचर….आगे पढ़ें

आशा करते हैं इस लेख में दी गयी जानकारी आपको पसंद आयी होगी। एस्ट्रोसेज से जुड़े रहने के लिए आप सभी का धन्यवाद !

कॉग्निएस्ट्रो आपके भविष्य की सर्वश्रेष्ठ मार्गदर्शक

आज के समय में, हर कोई अपने सफल करियर की इच्छा रखता है और प्रसिद्धि के मार्ग पर आगे बढ़ना चाहता है, लेकिन कई बार “सफलता” और “संतुष्टि” को समान रूप से संतुलित करना कठिन हो जाता है। ऐसी परिस्थिति में पेशेवर लोगों के लिये कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट मददगार के रुप में सामने आती है। कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट आपको अपने व्यक्तित्व के प्रकार के बारे में बताती है और इसके आधार पर आपको सर्वश्रेष्ठ करियर विकल्पों का विश्लेषण करती है।

 

इसी तरह, 10 वीं कक्षा के छात्रों के लिए कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट उच्च अध्ययन के लिए अधिक उपयुक्त स्ट्रीम के बारे में एक त्वरित जानकारी देती है।

 

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.