गुरुवार के ये उपाय दूर कर सकते हैं जीवन में आने वाली हर परेशानी

किसी भी जातक की जन्म कुंडली में बृहस्पति देव का अच्छी स्थिति में होना बहुत जरुरी माना जाता है अगर ऐसा नहीं है तो जातक को जीवन में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। जैसा कि हम सब जानते हैं बृहस्पति देव को देवताओं का गुरु भी कहा जाता है, और वैदिक ज्योतिष के अनुसार जीवन में आने वाली हर परेशानी का समाधान बृहस्पति देव आसानी से कर सकते हैं। ज्योतिशास्त्र के अनुसार यदि किसी व्यक्ति की कुंडली में गुरुदोष है तो, इसका प्रभाव उसके निजी जीवन पर पड़ सकता है। जिसके चलते आपके विवाह में देरी हो सकती है। इसके अलावा विवाहित जातकों को वैवाहिक जीवन में भी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। कुंडली में मौजूद गुरु दोष को दूर करने के लिए आज इस लेख के जरिये हम आपको कई उपाय बताने जा रहे हैं जिन्हें आजमाने के बाद आपको जीवन में आने वाली तमाम समस्याओं से छुटकारा मिल सकता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार बृहस्पति देव वैवाहिक जीवन की स्थिति, ज्ञान, भाग्य आदि को निर्धारित करने वाले माने जाते हैं। लिहाजा भाग्योदय के लिए यदि वीरवार के दिन कुछ विशेष उपाय किये जाएं तो जीवन में आने वाली कठिनाईयों से मुक्ति मिल सकती है। आईये आपको बताते हैं वीरवार के दिन किये जाने वाले विशेष उपायों के बारे में।

वीरवार के इन उपायों से खोलें अपनी बंद किस्मत

वैदिक ज्योतिष में बृहस्पति को गुरु का दर्जा दिया गया है। ये मुख्य रूप से ज्ञान, धर्म, दर्शन, संतान, विवाह और भाग्य का कारक होते हैं। यदि व्यक्ति की कुंडली में बृहस्पति की स्थिति अनुकूल हो तो इससे व्यक्ति के ज्ञान में वृद्धि होती है, संतान सुख की प्राप्ति होती है, विवाह के योग समय से बनते हैं और भाग्योदय होता है। वहीं दूसरी तरफ यदि व्यक्ति की कुंडली में बृहस्पति की स्थिति कमजोर हो तो इससे व्यक्ति के विवाह में देरी, संतान प्राप्ति में कठिनाई और जीवन के अन्य क्षेत्रों में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। बृहस्पति देव के हानिकारक प्रभावों से बचने के लिए आप वीरवार के इन उपायों को आजमा सकते हैं।

इन ज्योतिषीय उपायों से दूर करें टी.बी की बीमारी

  • बृहस्पति देव का विशेष आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए वीरवार के दिन ब्राह्मणों को भोजन करवाएं और उनसे आशीर्वाद लें।
  • कुंडली में बृहस्पति की स्थिति मजबूत बनाने के लिए वीरवार के दिन यदि आप मंदिर में केसर और चने की दाल का दान करते हैं तो इसके प्रभाव सकारात्मक हो सकते हैं। माथे पर केसर का तिलक लगाना भी प्रभावी साबित हो सकता है।
  • गुणी व्यक्तियों की ज्ञानवर्धक पुस्तकें दान करके भी गुरु के हानिकारक प्रभावों से बचा जा सकता है।
  • गुरु दोष को दूर करने के लिए गुरुवार के दिन अपने नहाने के पानी में चुटकी भर हल्दी डालकर स्नान करें। इसके साथ ही साथ नहाते वक्त “ॐ नमो भगवते वासुदेवाय मंत्र का जाप करें “ और मस्तक पर केसर का तिलक लगाएं।
  • वीरवार का व्रत रखें और केले के पौधे में जल अर्पित कर पूजा अर्चना करें। ऐसा करने से विवाह में आने वाली रुकावटों का समाधान होता है।
  • कुंडली में मौजूद गुरु दोष को दूर करने के लिए वीरवार के दिन विशेष रूप से सूर्योदय से पूर्व उठकर स्नान करने के बाद भगवान् विष्णु की पूजा अर्चना करें और विष्णु सहस्रनाम का पाठ करें।
  • कुंडली में गुरु की स्थिति मजबूत बनाने के लिए बृहस्पतिवार के दिन किसी को उधार देते वक़्त ख़ास सावधानी बरतें। धन का लेन-देन करने से गुरु कमजोर होता है और इससे आर्थिक तंगी का सामना भी करना पड़ सकता है।
  • यदि आप वीरवार का व्रत रखते हैं तो, इस दिन सत्यनारायण की व्रत कथा जरूर सुनें।
  • बृहस्पति देव का विशेष आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए, इस दिन खासतौर से बृहस्पति देव की मूर्ती को विधि-विधान के साथ किसी पीले वस्त्र पर स्थापित कर, चंदन और पीले फूल से उनकी पूजा अर्चना करें। इसके साथ ही प्रसाद में चने की दाल और गुड़ चढ़ाएं।
  • वीरवार के दिन खासतौर से पीला वस्त्र धारण करना भी आपके लिए फायदेमंद साबित हो सकता है। इससे भाग्योदय के अवसर प्राप्त होते हैं।

रुद्राक्ष की इन खूबियों से दूर हो सकती है हर परेशानी

इसके आलावा आपको बता दें कि बृहस्पतिवार के दिन बाल धोना और कटवाना एवं साबुन, शैम्पू और सर्फ़ का उपयोग वर्जित माना जाता है। ज्योतिषशास्त्र के अनुसार इस दिन बाल आदि काटवाने से आर्थिक स्थिति कमजोर होती है और संतान सुख प्राप्ति में रुकावटें उत्पन्न होती हैं। विवाह योग्य जातकों के लिए वीरवार के दिन बाल धोना अशुभ सिद्ध हो सकता है, इससे विवाह में देरी हो सकती है। इसके अलावा यदि विवाहित महिलाएं इस दिन बाल धोती हैं तो इससे उनके अखंड सौभाग्य में बाधा आती है। पुरुषों के लिए खासतौर से गुरुवार के दिन बाल और दाढ़ी कटवाने से उनकी आयु कम होती है।

आर्थिक परेशानी और अन्य समस्याओं से बचने के लिए इन मंत्रों का करें जाप

बृहस्पति देव के नकारात्मक प्रभावों से बचने के लिए और उनका विशेष आशीर्वाद प्राप्त करने के लिए यदि वीरवार के दिन निम्नलिखित मंत्रों का करीबन उन्नीस हजार बार जाप किया जाए तो इससे आर्थिक समस्याओं का हल होता है और जीवन में आने वाली अन्य समस्यायें भी बड़ी आसानी के साथ समाप्त हो जाती हैं। वीरवार के दिन इन मंत्रों का जाप जरूर करें।

  • ॐ बृं बृहस्पतये नमः ||
  • ॐ ग्रां ग्रीं ग्रौं स: गुरवे नम:।
  • ॐ ऐं श्रीं बृहस्पतये नम:।
  • ॐ गुं गुरवे नम:।
  • ॐ क्लीं बृहस्पतये नम:।

हम आशा करते हैं कि हमारा ये लेख आपके लिए फलदायी साबित होगा। हम आपके उज्जवल भविष्य की कामना करते हैं।

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.