जानें शुभ अशुभ बातें और उनके पीछे की असल वजह

बिल्ली का काटा हुआ रास्ता क्यों होता है अशुभ? बिल्ली के रास्ता काटने पर लोग क्यों रुक जाते हैं? कई बार आपके मन में इस तरह के सवाल ज़रुर आते होंगे। दरअसल हम में से कई लोग शगुन और अपशगुन पर विश्वास करते हैंं। इसके प्रत्यक्ष उदाहरण भी आप देख सकते हैं। जैसे काम की शुरूआत के समय किसी व्यक्ति की छींक आना, किसी विशेष कार्य को करने के बाद पीछे मुड़कर न देखना, किसी शुभ कार्य के लिए 3 लोगों का एक साथ न जाना आदि। इस प्रकार की शुभ-अशुभ बातें मानसिक रूप से हमें प्रभावित करती हैं। लेकिन इनके पीछे की असली वजह क्या होती हैं? इसके बारे में कम लोग ही जानते है। आइए जानते हैं इन घटनाओं के पीछे का कारण :-

बिल्ली का रास्ता काटा जाना है ज्योतिषीय संकेत

वैदिक ज्योतिष के अनुसार बिल्ली राहु ग्रह की सवारी है। सामान्य रूप से राहु एक अशुभ ग्रह है। राहु के अशुभ प्रभाव से व्यक्ति को कई प्रकार के कष्टों का सामना करना पड़ता है। राहु ग्रह से पीड़ित व्यक्ति परेशान रहता है। राहु दोष के कारण व्यक्ति को चोट तथा अन्य प्रकार की हानि संभव है। ऐसा माना जाता है कि बिल्ली यदि रास्ता काट दे तो आपको रास्ते में चोट या फिर अन्य प्रकार का नुकसान हो सकता है। कुछ लोग ऐसा भी कहते हैं कि बिल्ली की छठी इंद्रि विकसित होती है अतः वह भविष्य का अनुमान लगा लेती हैं। बिल्ली से जुड़ी कई और बातों को भी अच्छा नहीं माना जाता है।

बुरी नज़र से बचने के लिए करें ये उपाय : नज़र दोष के उपाय

बिल्ली का रोना होता है अशुभ!

बिल्ली का रोना भी अशुभ माना जाता है। क्योंकि यह किसी अनहोनी होने का संकेत होती है। यदि बिल्ली आपस में लड़ती हैं तो भी इसे अच्छा नहीं माना जाता है। यह धन हानि और किसी से लड़ाई होने का संकेत करती है। यदि बिल्ली ऊपर से कूदकर चली जाए तो इसे भी शुभ नहीं माना जाता है।

जानें: घर में शुभ-अशुभ पेड़-पौधे

दीवाली की रात में बिल्ली का आगमन होता है शुभ

यदि कोई बिल्ली दीवाली की रात में आपके घर आए तो यह शुभ होता है। बिल्ली का यह संकेत घर में लक्ष्मी के आगमन को बताता है। घर में सुख-समृद्धि आती है।

इस परिस्थिति में छींक आना भी होता है शुभ

छींक को प्रायः हम अशुभ मानते हैं। लेकिन कुछ ऐसी भी परिस्थितियाँ होती हैं जिनमें यदि छींक आए तो इसे शुभ संकेत माना जाता है। यदि आप शुभ कार्य के लिए जा रहे हैं और उस दौरान कोई बछड़ा छींक दे तो इसे शुभ माना जाता है। यह छींक धन की वृद्धि का संकेत करती है। श्मशान घाट में किसी व्यक्ति की छींक तो इसे शुभ माना जाता है।

शुभ-अशुभ के लिए क्यों है 3 संख्या का महत्व

3 या 13 को काफी लोग अशुभ मानते हैं। यह नबंर अपने आप में बेहद प्रभाव और रहस्यमी होता है। धार्मिक दृष्टि से यह संख्या बहुत महत्वपूर्ण होती है। सृष्टि में तीन लोक आकाश, धरती और पाताल हैं। सृष्टि के रचयिता, पालनकर्ता और संहार करने वाले भी तीन ही देव हैं – ब्रहमा, विष्णु और महेश। ज्योतिषीय दृष्टि से भी तीन नंबर महत्व पूर्ण है। जन्म कुंडली में तीन ग्रह सूर्य, चंद्रमा और बृहस्पति बलित हों तो वह व्यक्ति के जीवन को सफल बना सकते हैं।

श्मशान से लौटते समय पीछे मुड़कर क्यों नहीं देखना चाहिए?

श्मशान घाट में अंतिम संस्कार के बाद घर लौटते समय वापस पीछे मुड़कर नहीं देखना चाहिए। ऐसा कहा जाता है कि इससे आत्मा का अपने परिवार के प्रति मोह नहीं छूट पाता है और वह इस मोह की आश में भटकती है। दूसरी ओर, पीछे मुड़कर देखने का मतलब यह भी होता है कि मृत व्यक्ति के प्रति आप में भी मोह बना रहता है, जो मृत व्यक्ति की आत्मा को अपनी ओर आकर्षित करती है।

उम्मीद है यह लेख आपको पसंद आया होगा। यदि आप इस बारे में अपनी प्रतिक्रिया देना चाहते हैं तो आप नीचे कमेंट बॉक्स पर अपनी राय हमें भेज सकते हैं।

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

One comment

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.