महाशिवरात्रि पर राशि अनुसार करें शिव मंत्र का जाप, मिलेंगे शुभ फल

महाशिवरात्रि के पर्व को हिंदू धर्म के सभी लोग बहुत धूमधाम से मनाते हैं। इस दिन शिवालयों पर शिव भक्तों की भीड़ उमड़ती है। इस दिन भक्तों द्वारा शिव भगवान को प्रसन्न करने के लिये उपवास रखा जाता है और साथ ही रात्रि जागरण भी किया जाता है। हिंदू पंचांग के अनुसार महाशिवरात्रि का त्योहार फाल्गुन माह की कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता है। साल 2020 में महाशिवरात्रि का पर्व 21 फरवरी को मनाया जायेगा। अपने इस लेख में आज हम आपको बताएंगे कि आपको राशि के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन शिवजी के कौन से मंत्र का जाप करना चाहिये। इसके साथ ही शिवरात्रि के शुभ मुहूर्त की जानकारी भी आपको दी जाएगी।

शिक्षा और करियर क्षेत्र में आ रही हैं परेशानियां तो इस्तेमाल करें कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट 

राशि अनुसार भगवान शिव के मंत्र 

मेष

महाशिवरात्रि के दिन मंगल की स्वामित्व वाली मेष राशि के जातकों ‘नागेश्वराय नम:’ मंत्र का जाप करना चाहिये। 

वृषभ

शिवरात्रि के मौके पर ‘ॐ त्रिनेत्राय नम:’ मंत्र का 108 बार जाप करें। 

मिथुन 

राशिचक्र की तृतीय राशि मिथुन के जातकों को शिवरात्रि के दिन ‘ॐ श्रीकंठाय नम:’ मंत्र का जाप करना चाहिये। 

कर्क 

कर्क राशि के जातकों को इस दिन ‘ॐ ज्ञानभूताय नम:’ मंत्र का जाप करना चाहिये। 

सिंह 

शिव भगवान को प्रसन्न करने के लिये ‘ॐ ओंकाराये नम’ मंत्र का जाप करें। 

कन्या 

भोलेनाथ की कृपा प्राप्त करने के लिये ‘ॐ युक्तकेशात्मरूपाय नम:’ मंंत्र का जाप करें। 

जीवन में आ रही हर समस्या के समाधान के लिये इस्तेमाल करें एस्ट्रोसेज बृहत कुंडली 

तुला

तुला राशि के जातकों को शिव जी को प्रसन्न करने के लिये  ‘ॐ नन्देश्वराये  नमः’ मंत्र को जपना चाहिये। 

वृश्चिक

महाशिवरात्रि के दिन ‘ॐ गंगाधराये  नमः’ मंत्र का जाप करना आपके लिये शुभ रहेगा।  

धनु 

धनु राशि के जातक शिव भगवान की कृपा प्राप्त करने के लिये ‘ॐ ज्ञानभूताय नम:’ मंत्र का जाप करें। 

मकर 

शनि देव को शिव भगवान का भक्त माना जाता है इसलिये इस दिन मकर राशि के जातकों को ‘ॐ सोमनाथाय  नमः’ मंत्र का जाप करना चाहिये। 

कुंभ 

कुंभ राशि के जातकों को इस दिन ‘ॐ तत्पुरुषाय नम:’ मंत्र का जाप करना चाहिये। 

मीन 

राशि चक्र की अंतिम राशि मीन के जातकों को शिवरात्रि के दिन ‘ॐ दयानिधि नम:’ मंत्र का जाप करना चाहिये। 

महाशिवरात्रि शुभ मुहूर्त

महाशिवरात्रि के दिन भगवान शिव की पूजा शुभ मुहूर्त पर करने से आपको शुभ फल प्राप्त होते हैं। इस दिन के शुभ मुहूर्त की जानकारी आपको नीचे दी गई है। 

  1. निशीथ काल पूजा मुहूर्त- 24:09:17 से 24:59:51 तक
  2. महाशिवरात्रि पारणा मुहूर्त- 06:54:45 से 15:26:25 तक 22, फरवरी को
  3. अवधि- 0 घंटे 50 मिनट

शिवरात्रि के दिन क्या करें और क्या न करें 

भगवान शिव को भोलेनाथ भी कहा जाता है और वो अपने भक्तों की एक सच्ची पुकार से भी प्रसन्न हो जाते हैं, इसलिये उनको प्रसन्न करना सबसे आसान है। राशि अनुसार उनके मंत्रों के जाप के साथ-साथ महाशिवरात्रि के दिन आपको कुछ ऐसे काम करने चाहिये जिससे भगवान शिव प्रसन्न होते हैं। शिवरात्रि के दिन आपको अपने माता-पिता की सेवा करनी चाहिये। जरुरतमंदों की सहायता करनी चाहिये और दान-पुण्य करना चाहिये। इस दिन आपको दिन में सोने से बचना चाहिये। मांस-मदिरा का सेवन करने से बचना चाहिये और किसी को ठेस नहीं पहुंचानी चाहिये। यदि आप इन सारी बातों का ख्याल रखते हैं तो भगवान शिव की कृपा आपको जरुर प्राप्त होती है। 

कॉग्निएस्ट्रो आपके भविष्य की सर्वश्रेष्ठ मार्गदर्शक

आज के समय में, हर कोई अपने सफल करियर की इच्छा रखता है और प्रसिद्धि के मार्ग पर आगे बढ़ना चाहता है, लेकिन कई बार “सफलता” और “संतुष्टि” को समान रूप से संतुलित करना कठिन हो जाता है। ऐसी परिस्थिति में पेशेवर लोगों के लिये कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट मददगार के रुप में सामने आती है। कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट आपको अपने व्यक्तित्व के प्रकार के बारे में बताती है और इसके आधार पर आपको सर्वश्रेष्ठ करियर विकल्पों का विश्लेषण करती है।

 

इसी तरह, 10 वीं कक्षा के छात्रों के लिए कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट उच्च अध्ययन के लिए अधिक उपयुक्त स्ट्रीम के बारे में एक त्वरित जानकारी देती है।

 

 

जबकि 12 वीं कक्षा के छात्रों के लिए कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट पर्याप्त पाठ्यक्रमों, सर्वश्रेष्ठ कॉलेजों और करियर विकल्पों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराती है।

 

 

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.