नक्षत्र राशिफल 2020: जानें 2020 में सितारे कैसे आपके जीवन को प्रभावित करेंगे?

साल 2020 में किस राशि के चमकेंगे सितारे, नक्षत्रों के अनुसार जानें कैसा रहने वाला है आपके लिए नव वर्ष।

नक्षत्र राशिफल जानने से पहले ये जानना बेहद आवश्यक है कि आखिर नक्षत्र होते क्या हैं? तो हम आपको बता दें कि आसमान में तारों के समूह को नक्षत्र कहते हैं। वैदिक ज्योतिषी में नक्षत्रों को बहुत महत्वपूर्ण दर्जा दिया गया है। नक्षत्रों के बारे में कहा जाता है कि ये अपने प्रभाव से किसी भी इंसान के जीवन को 360 डिग्री से बदलने तक की क्षमता रखते हैं। शास्त्रों में नक्षत्रों की कुल संख्या 27 बताई गयी है। नक्षत्रों की इतनी महत्वता के चलते ही लोग नक्षत्रों को अनुकूल करने के लिए उनसे संबंधित ग्रहों की पूजा-पाठ और व्रत आदि तक करवाते हैं।

जानें अपने आने वाले साल का हाल – वार्षिक कुंडली 2020

जानिए नक्षत्रों का पौराणिक महत्व

नक्षत्र शब्द संस्कृत भाषा से लिया गया एक शब्द है जो की दो शब्दों ‘नक्स’ और ‘शतर’ से मिलकर बना हुआ है। संस्कृत में ‘नक्स’ शब्द का मतलब होता है ‘आकाश’ और ‘शतर’ शब्द का मतलब होता है ‘क्षेत्र’ जो कि एक साथ आकाश के क्षेत्र को दर्शाता है। कहा जाता है कि    जब किसी इंसान का जन्म होता है तो उस पल में मौजूद ग्रहों और नक्षत्रों के आधार पर ही उसकी कुंडली बनायीं जाती है। यही ग्रह और नक्षत्र, इंसान के जीवन पर अपनी-अपनी तरह से प्रभाव छोड़ते हैं और इन्ही ग्रह-नक्षत्रों के आधार पर उस व्यक्ति के जीवन की दिशा-दशा तय होती है।

पंचांग में नक्षत्रों का महत्व

नक्षत्र को एक तारामंडल कहा जाता है। वैदिक ज्योतिष किसी भी इंसान के व्यक्तित्व को पढ़ने के लिए उनकी सूर्य राशि की तुलना में उस इंसान की जन्म नक्षत्र (चंद्रमा का नक्षत्र) पर अधिक ध्यान केंद्रित करता है। ग्रह के नक्षत्र पदों का अध्ययन जन्म कुंडली में किया जाता है। यानी कि कहना गलत नहीं होगा कि वैदिक ज्योतिष में राशि चिन्हों की तुलना में जन्म नक्षत्र काफी ज़्यादा महत्व रखते हैं।

ज्योतिष शास्त्र में नक्षत्रों का महत्व

वैदिक ज्योतिषी कुंडली मिलान के दौरान नक्षत्रों को बेहद महत्वपूर्ण मानते हैं। वैदिक ज्योतिषी मानते हैं कि जब भी किसी इंसान के व्यक्तित्व का विश्लेषण करना हो तो उसके लिए सूर्य राशि के बजाय जन्म नक्षत्र (चंद्र नक्षत्र) ज्यादा बेहतर और सटीक साबित होती है। सूर्य लगभग एक  महीने बाद राशि परिवर्तन करते हैं जबकि चंद्रमा हर 2 से 3 दिनों में अपना राशि परिवर्तन करते हैं। यही वजह है जिसके चलते ऐसा माना जाता है कि चंद्रमा पर आधारित भविष्यवाणियां ज़्यादा सटीक और ज़्यादा विश्वसनीय होती हैं।

जानें आपकी कुंडली में छिपे राज योग

यहाँ विस्तार से जानिए आने वाले साल 2020 में प्रत्येक राशि के बारे में नक्षत्र आधारित भविष्यवाणी।

अश्विनी नक्षत्र

30 मार्च 2020 – 30 जून 2020 के बीच आपको करियर क्षेत्र में उन्नति होगी इस सफलता को उछाल देंगे….विस्तार से पढ़ें

भरणी नक्षत्र

करियर के लिहाज से 17 फरवरी 2020 से 7 मई 2020 के बीच आपको सतर्क रहने की ज़रूरत है, क्योंकि….विस्तार से पढ़ें

कृत्तिका नक्षत्र

कार्य-क्षेत्र में आपको थोड़ा सतर्क रहने की ज़रूरत है आपकी आपके बॉस या किसी वरिष्ठ अधिकारी से बहस या वाद-विवाद हो सकती है….विस्तार से पढ़ें

रोहिणी नक्षत्र

नयी नौकरी के लिए प्रयास करना है तो इसके लिए 4 अप्रैल 2020 तक का समय आपके लिए काफी अच्छा साबित हो सकता है…. विस्तार से पढ़ें

मृगशिरा नक्षत्र

साल के पहले दो महीने आपकी मांगों और आकांक्षाओं के लिए काफी अच्छे साबित हो सकते हैं….विस्तार से पढ़ें

आर्द्रा नक्षत्र

अपने कार्य-क्षेत्र पर इस बात का ध्यान रखें कि जब भी आप अपने क्लाइंट या टीम के किसी साथी से किसी मामले पर चर्चा कर रहे हों तो गुस्सा मत हों….विस्तार से पढ़ें

पुनर्वसु नक्षत्र

कार्य-क्षेत्र के मामले में ये साल आपके लिए ज़बरदस्त शुरुआत लेकर आने वाला साबित हो सकता है….विस्तार से पढ़ें

पुष्य नक्षत्र

मध्य जनवरी से ही आपको नयी और बेहतर नौकरियों के ऑफर आने शुरू हो सकते हैं…. विस्तार से पढ़ें

आश्लेषा नक्षत्र

कार्य-क्षेत्र में आपको अपनी देखरेख में बहुत सारी परियोजना देखनी होगी जिससे आप पूरे साल भर व्यस्त रहेंगे…. विस्तार से पढ़ें

मघा नक्षत्र

साल की पहली दो तिमाहियों में आपको सतर्क रहने की बेहद ज़रूरत है क्योंकि इस दौरान नौकरी छूटने की संभावना काफी प्रबल है…. विस्तार से पढ़ें

पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र

कार्य-क्षेत्र के लिहाज़ से ये समय आपके लिए काफी अच्छा जाने वाला है क्योंकि आपके कार्य स्थल पर आपकी रचनात्मकता और व्यवस्थित दृष्टिकोण के लिए आपकी जम-कर प्रशंसा की जाएगी…. विस्तार से पढ़ें

उत्तरा फाल्गुनी नक्षत्र

कोशिश करें कि आप अपने बॉस के साथ किसी प्रकार की बहस में ना पड़ें, क्योंकि बॉस आपको बना भी सकता है और आपको बर्बाद भी कर सकता है…. विस्तार से पढ़ें

हस्त नक्षत्र

कार्य-क्षेत्र में बढ़ती आकांक्षाओं या सपनों के कारण आप अपनी नौकरी या काम में बेचैन रहेंगे…. विस्तार से पढ़ें

चित्रा नक्षत्र

नौकरी में या व्यापार में आपके प्रतिस्पर्धी मध्य जुलाई तक बहुत मजबूत होंगे और इसके बाद मज़बूत आप होंगे, इसलिए पहले से ही अपना बैकअप प्लान तैयार करें…. विस्तार से पढ़ें

स्वाति नक्षत्र

इस वर्ष आपका किसी अलग कार्यालय या कार्य-स्थल में अचानक स्थानांतरण हो सकता है जिससे आपका उत्साह काफी कम हो जायेगा…. विस्तार से पढ़ें

विशाखा नक्षत्र

आपके कार्य-क्षेत्र में आपके वरिष्ठ अधिकारी आपका भरपूर समर्थन करेंगे…. विस्तार से पढ़ें

अनुराधा नक्षत्र

इस वर्ष कार्य-क्षेत्र में आपकी प्रगति बहुत धीमी रहेगी लेकिन चिंता न करें अगस्त 2020 के बाद आप सफलता के लिए बहुत तेजी से आगे बढ़ेंगे…. विस्तार से पढ़ें

ज्येष्ठा नक्षत्र

आपकी सतर्कता और संचार कौशल के कारण, इस वर्ष आपके कार्य-क्षेत्र में आपकी जमकर प्रशंसा की जाएगी…. विस्तार से पढ़ें

मूल नक्षत्र

इस साल आप अपने कार्य-क्षेत्र पर अपने कमा को लेकर काफी उदास रहने वाले हैं…. विस्तार से पढ़ें

पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र

इस वर्ष अप्रैल के अंत से मध्य मई के महीने में आपकी सैलरी में बढ़ोतरी आपकी उम्मीद के मुताबिक हो सकती है…. विस्तार से पढ़ें

उत्तराषाढ़ा नक्षत्र

कार्य-क्षेत्र में आपको आपके बॉस का भरपूर सहयोग मिलने वाला है…. विस्तार से पढ़ें

श्रवण नक्षत्र

काम के सिलसिले में इस साल आपकी कई यात्राएं होने वाली हैं…. विस्तार से पढ़ें

धनिष्ठा नक्षत्र

कार्य-क्षेत्र पर आपको बड़ी सफलता मिलेगी और अपेक्षित वृद्धि के साथ आपकी पदोन्नति होने की भी उम्मीद है…. विस्तार से पढ़ें

शतभिषा नक्षत्र

आपको फ़रवरी के बाद विदेश से नौकरी का ऑफर आ सकता है…. विस्तार से पढ़ें

पूर्वाभाद्रपद नक्षत्र

18 फ़रवरी तक थोड़ा सावधान रहने की सलाह दी जाती है क्योंकि इस दौरान आपके जीवन में चले आ रहा दिन-प्रतिदिन का संघर्ष जारी रहेगा…. विस्तार से पढ़ें

उत्तराभाद्रपद नक्षत्र

अप्रैल और जून के बीच होने वाले पहले परिवर्तन आपके लिए बेहतर साबित हो सकते हैं…. विस्तार से पढ़ें

रेवती नक्षत्र

इस साल आपकी नौकरी में कम से कम दो बार बदलाव होंगे…. विस्तार से पढ़ें

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.