मंगल का मकर राशि में गोचर सभी राशियों के लिए लेकर आएगा कैसे परिणाम

मंगल का मकर राशि में गोचर और प्रभाव

इस वर्ष 22 मार्च 2020, रविवार को दोपहर 13 बजकर 44 मिनट पर मंगल धनु राशि से निकलकर मकर राशि में प्रवेश करेगा। मकर को मंगल की उच्च राशि का दर्जा प्राप्त है इसलिए इस राशि में मंगल काफी बलशाली हो जाता है। वैदिक ज्योतिष में मंगल ग्रह की पूजा का बहुत ज़्यादा महत्व बताया गया है।

जानें सफल करियर चुनने का सही रास्ता – कोग्निऐस्ट्रो रिपोर्ट

कहा जाता है कि मंगल की सच्चे मन से पूजा-पाठ करने से बड़े से बड़े ऋण से मुक्ति मिल जाती है। वैसे तो ज्योतिष शास्त्र में मंगल ग्रह को एक अशुभ ग्रह का दर्जा दिया गया है लेकिन ये प्रसन्न होने पर मनुष्य की हर प्रकार की इच्छा को भी पूरा करने के लिए जाने जाते हैं। मंगल एक अग्नि तत्व प्रधान ग्रह है और मकर राशि एक पृथ्वी तत्त्व की राशि मानी गयी है।

रंगीन बृहत कुंडली आपके सुखद जीवन की कुंजी

यानि कि इस गोचर से एक अग्नि तत्त्व प्रधान ग्रह एक पृथ्वी तत्व प्रधान राशि में प्रवेश करने वाला है जिससे मंगल के प्रभाव में वृद्धि होगी। अगर किसी व्यक्ति की कुंडली में मंगल ग्रह कमज़ोर अथवा पीड़ित होता है तो यह जातक के लिए समस्या पैदा करने वाला साबित हो सकता है। इसके प्रभाव से फिर उस व्यक्ति को किसी दुर्घटना का सामना भी करना पड़ सकता है। यानि कि कम शब्दों में कहें तो पीड़ित मंगल के कारण जातक के पारिवारिक जीवन में भी समस्याएं आती हैं। मंगल के इस गोचर का प्रभाव सभी राशियों पर होगा। आईये जानते हैं आपकी राशि के अनुसार आपके जीवन पर क्या होगा मंगल के इस गोचर का असर?

यह भविष्यफल चंद्र राशि पर आधारित है। अपनी चंद्र राशि जानने के लिए क्लिक करें: चंद्र राशि कैलकुलेटर

जानें आपके साल 2020 का हाल – वार्षिक कुंडली 2020

मेष राशि 

मेष राशि के लोगों के लिए मंगल राशि स्वामी होने के साथ ही साथ आपके अष्टम भाव का भी स्वामी है और अपने इस गोचर काल में वह आपके दशम भाव में विराजमान होगा। दशम भाव में मंगल को दिग बल प्राप्त होता है, जिसकी वजह से वो और…..आगे पढ़ें

वृषभ राशि 

आपकी राशि के लोगों के लिए मंगल सातवें तथा बारहवें भाव के स्वामी हैं। अपने इस गोचर के दौरान वे आपके नवम भाव में प्रवेश करेंगे। इस गोचर के परिणाम आपको शीघ्र ही देखने को मिलेंगे। आपको भाग्य का साथ मिलेगा और आप…..आगे पढ़ें 

मिथुन राशि 

मिथुन राशि के लिए मंगल छठे और ग्यारहवें भाव के स्वामी हैं और अपने इस गोचर काल में वे आपके आठवें भाव में प्रवेश करेंगे। इस भाव में मंगल का गोचर अधिक अनुकूल नहीं होगा, इसलिए…..आगे पढ़ें

कर्क राशि 

आपकी राशि के लिए मंगल योगकारक ग्रह है क्योंकि यह आपके केंद्र भाव और त्रिकोण भाव अर्थात दशम और पंचम का स्वामी है, इसलिए यह गोचर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है। अपने इस गोचर की अवधि में मंगल आपके सप्तम भाव में विराजमान होंगे। इसकी वजह से व्यापार में…..आगे पढ़ें 

जानें अपने बच्चों का भविष्य : 10वीं 12वीं की रिजल्ट भविष्यवाणी

सिंह राशि 

आपकी राशि के स्वामी सूर्य के परम मित्र मंगल आपके लिए भी योगकारक हैं क्योंकि वह आपके केंद्र भाव अर्थात चतुर्थ तथा त्रिकोण भाव अर्थात नवम भाव के स्वामी हैं। अपने गोचर काल में  मंगल आपके छठे भाव में प्रवेश करेंगे। मंगल का गोचर छठे भाव में आमतौर पर…..आगे पढ़ें

कन्या राशि 

कन्या राशि के जातकों के लिए मंगल तीसरे और आठवें भाव का स्वामी है।  मकर राशि में अपने गोचर के चलते यह आपके पंचम भाव में प्रवेश करेंगे। इस गोचर के प्रभाव से  आपको कुछ अप्रत्याशित लाभ होंगे और…..आगे पढ़ें

तुला राशि 

तुला राशि के लोगों के लिए मंगल दूसरे और सातवें भाव का स्वामी है और गोचर काल में आपके चौथे भाव में प्रवेश करेगा। इस गोचर के प्रभाव से जहां आपके परिवार में कुछ समस्याएं खड़ी हो जाएंगी, वहीं जीवनसाथी कार्यरत है तो उनके करियर में किसी बड़े पद की…..आगे पढ़ें

वृश्चिक राशि 

मंगल का कोई भी गोचर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण होता है क्योंकि मंगल आपकी राशि का स्वामी है और राशि स्वामी होने के साथ ही साथ मंगल आप के छठे भाव का भी स्वामी है। जब मंगल मकर राशि में गोचर करेगा तो वह आप के तीसरे भाव में प्रवेश करेगा। तीसरे भाव में मंगल का गोचर मुख्यतः…..आगे पढ़ें

जीवन में किसी भी समस्या का समाधान पाने के लिए प्रश्न पूछें  

धनु राशि 

धनु राशि के लोगों के लिए मंगल पांचवें और बारहवें भाव का स्वामी है। गोचर काल में आपके दूसरे भाव में मंगल का प्रभाव विशेष रूप से दिखाई देगा क्योंकि ये आपके दूसरे भाव में प्रवेश करेंगे। इस गोचर के प्रभाव से आपके पारिवारिक जीवन में कुछ तनाव बढ़ सकता है…..आगे पढ़ें 

मकर राशि 

आपकी राशि के लिए मंगल चतुर्थ भाव और एकादश भाव का स्वामी है और अपने इस गोचर काल में हुए आपके प्रथम भाव में यानि कि आपकी ही राशि में प्रवेश करेगा, इसलिए इस गोचर का प्रभाव आप पर भी प्रमुख रूप से दिखाई देगा। इस गोचर के परिणाम स्वरूप…..आगे पढ़ें

कुंभ राशि 

कुंभ राशि के लोगों के लिए मंगल आपके तीसरे और दसवें भाव का स्वामी है और गोचर काल की इस अवधि में वह आपके बारहवें भाव में प्रवेश करेगा। आपके दशम भाव का स्वामी होने से कार्य क्षेत्र में बड़े बदलाव ला सकता है और आपका ट्रांसफर हो सकता है…..आगे पढ़ें

मीन राशि

आपकी राशि के लिए मंगल आपके दूसरे और नवें भाव का स्वामी है और गोचर काल में आपके एकादश भाव में प्रवेश करेगा। मंगल आपके भाग्य स्थान का स्वामी है। इसलिए इसका गोचर काफी महत्वपूर्ण रहेगा…..आगे पढ़ें

 

कॉग्निएस्ट्रो आपके भविष्य की सर्वश्रेष्ठ मार्गदर्शक

आज के समय में, हर कोई अपने सफल करियर की इच्छा रखता है और प्रसिद्धि के मार्ग पर आगे बढ़ना चाहता है, लेकिन कई बार “सफलता” और “संतुष्टि” को समान रूप से संतुलित करना कठिन हो जाता है। ऐसी परिस्थिति में पेशेवर लोगों के लिये कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट मददगार के रुप में सामने आती है। कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट आपको अपने व्यक्तित्व के प्रकार के बारे में बताती है और इसके आधार पर आपको सर्वश्रेष्ठ करियर विकल्पों का विश्लेषण करती है।

 

इसी तरह, 10 वीं कक्षा के छात्रों के लिए कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट उच्च अध्ययन के लिए अधिक उपयुक्त स्ट्रीम के बारे में एक त्वरित जानकारी देती है।

 

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.