महाशिवरात्रि 2018: अपनी राशि के अनुसार करें महादेव की पूजा, पाएं अतिशीघ्र फल

महाशिवरात्रि का महान पर्व आने ही वाला है और हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी आप इस दिन भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए उनकी की पूजा अर्चना करेंगे और उनसे अपनी मनोकामना पूर्ण करने के लिए प्रार्थना करेंगे।  किन्तु क्या आप यह जानते है कि अगर शिव जी की पूजा अपनी राशि के अनुसार किया जाए तो आपकी पूजा का फल अतिशीघ्र ही मिलता है।

जी हाँ अलग अलग राशि के लोगों के लिए विशेष पूजन के प्रकार का प्रावधान है। अगर आप अपनी मनोकामना की पूर्ति चाहते है तो  भोलेनाथ की पूजा अपनी राशि के अनुसार पूरे विधि विधान से करे आपको अवश्य ही लाभ होगा।

आईये जानते है किस राशि को किस प्रकार महाशिवरात्रि पर शिवजी की पूजा करनी चाहिए।

मेष: इस राशि वाले नीले-काले पुष्प तथा गंगाजल से पूजन-‍अभिषेक करें। शिव पंचाक्षर मंत्र का जप करें।

वृषभ: इस राशि के जातक रक्त पुष्प तथा पंचामृत से पूजन-अभिषेक करें। शिव महिम्न स्त्रोत पढ़ें।

मिथुन: आप जामुनिया-नीले फूल से पूजा करें तथा जल से अभिषेक करें। शिव षडाक्षर मंत्र का 11 बार जप करें।

कर्क: पीले पुष्प भोलेनाथ को चढाएं तथा मीठे जल से अभिषेक करें। रावण रचित शिव तांडव का पाठ करें।

सिंह: आप पीले पुष्प से भगवान की पूजा करें और सरसों के तेल से उनका अभिषेक करें।  शिवजी के बारह ज्योतिर्लिंगों का स्मरण करें आपकी मनोकामना अवश्य पूर्ण होगी

कन्या: इस राशि के जातक सरसों के तेल से भोलेनाथ का अभिषेक करें तथा रक्तपुष्प चढ़ाए। शिव जी के 108 नामों का जप करें।

तुला: इस राशि के जातक श्वेतपुष्प तथा दूध से पूजन-अभिषेक करें साथ ही महा मृत्युंजय का जाप करें। अवश्य ही लाभ मिलेगा।

वृश्चिक: आप हरे फूल, भांग तथा सुगंधित तेल से पूजन-अभिषेक करें साथ ही शिव पुराण पढ़ें। अवश्य ही लाभ मिलेगा।

धनु: इस राशि वाले  श्वेत पुष्प से पूजा करें तथा दुग्ध धारा से अभिषेक करें।आप महाकाल सहस्त्रनाम भी पढ़ें।

मकर:  आप ॐ नमः शिवाय का जाप करते हुए शिवजी को रक्तपुष्प चढ़ाये तथा उनका अभिषेक शहद से करें।

कुंभ:  आप अर्क, धतूरा तथा दूध से पूजन-अभिषेक करें। शिव चालीसा पढ़ें।

मीन: इस राशि के जातक श्वेत कमल, पुष्प तथा दुग्ध से पूजन-अभिषेक करें साथ ही  शिवाष्टक पढ़ें।

शिवलिंग अभिषेक और उस पर अर्पित की जाने वाली वस्तुओं का महत्व

यूँ तो सच्चे मन से की गयी पूजा और प्रार्थना ही भोलेनाथ को प्रसन्न करने के लिए काफी है। लेकिन फिर भी हम उनकी पसंद की चीज़ों से उनका पूजन-अभिषेक करते है।

आईये जाने शिवलिंग अभिषेक और शिवजी को अर्पित होने वाली चीज़ों का महत्व ।

मंत्रों का उच्चारण करते हुए शिवलिंग पर जल चढ़ाने से हमारा स्वभाव शांत और स्नेहमय होता है।

शिवलिंग पर केसर अर्पित करने से हमें सौम्यता मिलती है।

भोलेनाथ का अभिषेक चीनी से करने से मनुष्य के जीवन में सुख और समृद्धि बढ़ती है तथा दरिद्रता दूर होती है।

शिवलिंग पर इत्र अर्पित करने से हमारे विचार सकारात्मक और पवित्र होते है साथ ही हम अपने मार्ग से भटकने से भी बचते है।

दूध से महादेव का अभिषेक करने से मनुष्य को सारे रोगों से मुक्ति मिलती है और वह हमेशा स्वस्थ रहता है।

शिवलिंग पर दही चढ़ाने से आपके जीवन में आने वाली समस्या दूर होती है और साथ ही सवभाव में गंभीरता आती है।

शिवजी को घी अर्पित करने से मनुष्य की उर्जा और शक्ति बढ़ती है।

भगवान को चन्दन अर्पित करने से आपका मान सम्मान बढ़ता है और आपका व्यक्तित्व भी आकर्षक होता है।

महादेव की पूजा शहद से करने से आपकी वाणी में मिठास आती है।

शिव जी को भांग बहुत ही प्रिय है इसे चढ़ाने से मनुष्य की कमियां और बुराइयां दूर होती है।

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.