जानें फेस रीडिंग के माध्यम से क्या कहता है मोदी का व्यक्तित्व

एक दशक पहले गुजरात के बाहर लोग इनके नाम से भी अपरिचित थे। कहां से आया यह धूमकेतु ।यह क्या इनका व्यक्तिगत रोल है या संघ परिवार का सम्मिलित प्रयास। तो आइए आज हम इसी बात की चर्चा करते हैं। मोदी जी की कुंडली का विश्लेषण समय समय पर अनेको विद्वानों ने किया है। आज मैं थोड़ा हट कर बात करना चाहती हूं। आज हम कुछ दूसरे तरीके से विश्लेषण करते हैं। जिसे हम पंचतत्व विश्लेषण कहते हैं। साथ ही हम मोदी जी की फेस रीडिंग अर्थात लक्षण ज्योतिष के अनुसार उनके व्यक्तित्व का विश्लेषण करेंगे ।

सृष्टि के पांच तत्वों  से प्रत्येक व्यक्ति का निर्माण हुआ है। भूमि, जल, अग्नि, वायु और आकाश। इन तत्वों की मात्रा व्यक्ति के अंदर कितनी है और किस संतुलन में हैं, इससे उसका व्यक्तित्व बनता है। भारतीय परंपरा के अनुसार कुंडली में लग्न और राशि किसी का व्यक्तित्व निर्धारित करती है। एक अन्य पहलू सौर राशि का भी है, जिसके अनुसार विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में आपका भविष्य  प्रकाशित किया जाता है। यही नहीं, कुछ विद्वान मित्र आपके नाम को अर्थात अंक ज्योतिष के अनुसार भी आपके व्यक्तित्व का आंकलन करते हैं। इन सभी चीजों में सच्चाई तो बहुत है, किंतु इन सभी को जोड़कर विश्लेषण किया जाए, तो जातक का संपूर्ण व्यक्तित्व स्पष्ट रूप से बाहर आ जाता है।

प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नाम से इनकी राशि वृश्चिक सिद्ध होती है। मजे़ की बात यह है कि उनके व्यक्तित्व में यह राशि बार-बार अपने आप को दोहराती हैं। लग्न व चंद्र राशि के अनुसार वृश्चिक राशि ही बनती है। इनकी सौर राशि कन्या है, जिसका तत्व पृथ्वी है और अंक ज्योतिष के अनुसार भी इनका पृथ्वी तत्व बनाता है। तो इस प्रकार हम देखते हैं कि मोदी जी के व्यक्तित्व में सर्वाधिक भाग वृश्चिक राशि का है,  जिसका स्वामी मंगल और तत्व जल है। दोनों मिलकर भाप के रूप में मोदी मे अक्षय ऊर्जा का निर्माण करते हैं और यही बात हम पिछले कार्य काल के दिनों में स्पष्ट रूप से देख चुके हैं। नरेंद्र मोदी जी असीम ऊर्जा से भरपूर होने के बाद भी भड़कते नहीं है। पृथ्वी तत्व इनको असीम धैर्य प्रदान करता है। थोड़े में संतोष रहने की प्रवृत्ति भी पृथ्वी तत्व प्रदान करता है।

वृश्चिक राशि के जातकों की विशेषता होती है कि इनमें अनोखी आकर्षण शक्ति होती है। आप के अंदर आसपास के लोगों को सम्मोहित करके अपने अनुकूल विचारधारा का बनाना और सहयोगी से भी अपने अनुसार कार्य कराने की क्षमता चमत्कारिक ही है, अन्यथा भ्रष्टाचार में डूबा प्रशासन तंत्र किसी भी राजनेता के लिए बहुत कठिन परिस्थितियां उत्पन्न कर सकता था।

वृश्चिक राशि के जातकों का लालन-पालन जिस माहौल में हुआ हो,  वह बहुत ही मायने रखता है। सकारात्मक शिक्षा मिलने पर यह चोटी के सर्जन, पुलिस अधिकारी, फौजी,  सेना प्रमुख, प्रशासन प्रमुख बन सकते हैं, लेकिन अगर लालन-पालन ठीक ढंग से ना किया जाए, तो इन्हें चोर, डाकू, लुटेरे व जाल साज बनने में देर नहीं लगती।

हमारे देश का सौभाग्य है कि मोदी जी का लालन-पालन संघ के आंगन में संस्कारों की गोद में हुआ। जिससे इनके गुण दैदिप्यमान होकर उभरे।  इनकी सफलता में व्यक्तिगत गुण तो मायने रखते ही हैं, किंतु संघ परिवार का साथ उनके प्रशिक्षण और प्रतिभाओं को चार चांद लगाता है।

फेस रीडिंग अर्थात लक्षण ज्योतिष अनुसार इनके व्यक्तित्व में मंगल ग्रह उतना ही हावी है जितना गुरु बृहस्पति। इनका उभरा हुआ माथा, बड़ा सिर गुरु तत्व का परिचायक है, जिसके कारण दूरदृष्टि, वैराग्य भाव, संपूर्ण विश्व के प्रति उन्नति भाव तथा सबका साथ सबका विकास उनके व्यक्तित्व में ही झलकता है। इनके चेहरे का निचला भाग जो कि जबड़े से बनता है, वहां पर मंगल तत्व स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहा है।  जो कि उनमें नेतृत्व की असीम शक्ति देता है। मंगल को देवताओं का सेनापति माना गया है। उसी कुशलता के साथ अपनी टीम का संचालन करने में वे समर्थ हैं। मोदी जी की होठों की बनावट बताती है कि वह अपने हृदय में कुछ छुपा कर नहीं रखते। जो मन में है वही वाणी में स्पष्ट रूप से दिखाई देता है।

उनके कान की बनावट यह बताती है कि वे एक अच्छे श्रोता हैं , जो सब की सलाह गौर से सुनते हैं और फिर निर्णय लेते हैं। साथ ही इनके कान की बनावट यह भी बताती है कि यह परंपराओं से ऊपर उठकर नवीन विचारों, आविष्कारों और दर्शन को अपने जीवन में महत्वपूर्ण स्थान देते हैं। इनकी आंखें बच्चों जैसी उत्सुकता से भरी हुई हैं, जो कि इनमे अधिक से अधिक जानकारी लेने की प्रवृत्ति दिखाती है व दूसरी ओर गंभीर मुद्रा में सामने वाले को अंदर तक भेद सके ऐसी गहन गंभीर दृष्टि है। इनकी नाक की बनावट इनको कुशल प्रबंधकर्ता और कुछ-कुछ हठी बनाती है।

कुल मिलाकर फेस रीडिंग व पंच तत्वों के आधार पर इनका व्यक्तिव सबको साथ लेकर भविष्य की योजनाएं बनाते हुए, धर्म प्रशासन, अनुशासन रखने वाला, नयी खोजों, विचारों और आविष्कारों को सपोर्ट करने वाला साहसी व्यक्तित्व प्रदान करता है जो कि धैर्यवान व मितव्ययी व्यक्तित्व है।

हम आशा करते हैं हमारे द्वारा किए हुए इस विश्लेषण के पश्चात आप इन्हें और इनके व्यक्तित्व को बारीकी से और अच्छे से समझ पाएंगे। आप सभी का बहुत बहुत धन्यवाद।

दीप्ति जैन
आधुनिक वास्तु एस्ट्रो विशेषज्ञ

दीप्ति जैन एक जानी-मानी वास्तुविद हैं, जिन्होंने पिछले 3 सालों से वास्तु विज्ञान के क्षेत्र में अपने कौशल और प्रतिभा को बखूबी दर्शाया है। उनके इस योगदान के लिए उन्हें कई सारे पुरस्कारों से सम्मानित भी किया गया है। दीप्ति जैन न केवल वास्तु बल्कि सामाजिक मुद्दों, हस्‍तरेखा विज्ञान, अध्यात्म, कलर थेरेपी, सामुद्रिक शास्त्र जैसे विषयों की भी विशेषज्ञ हैं।

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.