नई “शिशु कुंडली” बदल सकती है आपके बच्चे का जीवन!

किसी परिवार में शिशु के जन्म के साथ एक तरफ जहां ख़ुशियों की सौगात आती है, वहीं दूसरी तरफ कई बार माता-पिता के मन में कई ख्याल एक साथ आते हैं। जैसे-कहीं शिशु मूल नक्षत्र में तो नहीं जन्मा? यदि जन्मा है तो किस तरह दोष से मुक्ति मिल सकती है? ज्योतिष के प्रति जागरुक लोग जानना चाहते हैं कि बच्चे के जन्म का पाया कौन सा है? शिशु के नाम के लिए कौन सा अक्षर उचित रहेगा, जो उसके भाग्यनुकूल हो। शिशु को जन्म के वक्त यदि थोड़ी स्वास्थ्य संबंधी समस्या है तो अभिभावक उसके स्वास्थ्य को लेकर चिंतित रहते हैं कि बच्चे का भविष्य में स्वास्थ्य कैसा रहेगा? इसके अलावा नामकरण से लेकर विद्यारंभ संस्कार जैसे शिशु से जुड़े तमाम अहम संस्कार कब कराए जाएं? दरअसल, बच्चे से जुड़े ऐसे कई सवाल हैं, जो माता-पिता उसके जन्म के साथ ही जानना चाहते हैं, लेकिन एक कड़वा सच यह भी है शिशु केंद्रित जन्मपत्री बनाने का प्रचलन हमारे यहां नहीं है। ज्योतिष से जुड़ी तमाम कंपनियां और जन्मपत्री बनाने वाले तमाम सॉफ्टवेयर भी शिशु केंद्रित जन्मपत्री नहीं बनाते। 

दुनिया के नंबर एक ज्योतिषीय पोर्टल एस्ट्रोसेजडॉटकॉम ने पहली बार इस दिशा में पहल की है-शिशु कुंडली के रुप में। यह अपने आप में अनूठी जन्मपत्री है और आज तक शिशु केंद्रित ऐसी रिपोर्ट किसी ने तैयार नहीं की है। हमें मालूम है कि एकल परिवार समाज में अब अभिभावक नवजात शिशु को लेकर कितने चिंतित रहते हैं, लिहाजा बच्चे के नामकरण से लेकर, उसकी कुंडली के योग एवं दोष और अहम मुहूर्त तक से जुड़े उनके हर सवाल का जवाब इस ‘शिशु कुंडली’ रिपोर्ट में दिया गया है।

इस रिपोर्ट के माध्यम से आप अपने बच्चे के भविष्य के विषय में गहरायी से जान पाएंगे। आप “शिशु कुंडली” रिपोर्ट के जरिए समझ जाएंगे कि बच्चे का भावी व्यक्तित्व कैसी रहेगा। कॉग्निएस्ट्रो के रुप में विकसित एस्ट्रोसेज की एक विशिष्ट प्रणाली से अभिभावक बच्चे की शख्सियत को विस्तार में समझ सकते हैं ताकि उसी आधार पर वो जीवन में आगे बढ़े, अपना करियर विकल्प चुने। यह रिपोर्ट आपको बच्चे के जीवन में आने वाली परेशानियों और उतार-चढ़ावों के विषय में भी बताएगी।

आइये चलिए इस रिपोर्ट की विशेषताएँ विस्तार से जानने से पहले, आपको मिलवाते हैं उन नामचीन लोगों से, जिनके बच्चे के जीवन को “शिशु कुंडली” रिपोर्ट ने सही दिशा दिखाने का कार्य किया है। साथ ही लेते हैं उसकी प्रतिक्रिया:  

  • अभी मेरा बच्चा मात्र 3 वर्ष का है, लेकिन हर माता-पिता की तरह हम भी अपने बच्चे को लेकर उसके जन्म से ही चिंतित थे। जिसके लिए बार-बार हमे किसी पुरोहित के पास जाना पड़ रहा था, कभी उसका नामकरण के लिए मुहूर्त का पूछने, तो कभी ये जानने कि बच्चे के लिए अन्य मुहूर्त कब और कैसे किये जा सकते है? लेकिन फिर किसी ने मेरे पति को एस्ट्रोसेज की “शिशु कुंडली” के बारे में बताया। दरअसल, हमने पहले कभी भी ऐसी कोई भी रिपोर्ट नहीं देखी, जो बच्चे की जन्म कुंडली से जुड़ी विस्तृत व सटीक हर जानकारी दें। परंतु इस रिपोर्ट की विशेषताओं को देख हम प्रभावित हुए और हमने भी अपने बच्चे के लिए इसे आर्डर किया। यकीन मानिए वास्तव में, इस रिपोर्ट को पढ़ने के बाद हमारी अपने बच्चे के प्रति सभी मानसिक चिंताएं और तनाव खत्म हो गया। धन्यवाद एस्ट्रोसेज, आपकी इस रिपोर्ट ने मेरे बच्चे के लिए, उसके जीवन की हर खराब परिस्थितियों से भी निकलने का न केवल समाधान दिया है, बल्कि उसकी कुंडली के सभी दोष और योग के बारे में भी बताया है। इसलिए अब मैं कह सकती हूँ, कि वाकई “शिशु कुंडली” बच्चों के लिए दुनिया की सबसे महान खोज है!

-योगेश श्रीवास्तव

  • मेरा बच्चा 8 साल का है, लेकिन जन्म के बाद से ही उसे स्वास्थ्य से जुड़ी कुछ न कुछ समस्या परेशान कर रही थी। जिसके चलते वो न तो अपनी पढ़ाई पर मन लगा पाता था, और न ही दूसरे बच्चों की तरह खेल-कूद करता था। उसका स्वभाव भी अप्रकाशित तरीके से अचानक बदलता रहता था, जिससे हम अक्सर परेशान रहते थे। लेकिन फिर हमने एस्ट्रोसेज की “शिशु कुंडली” रिपोर्ट के बारे में पढ़ा और तुरंत उसे आर्डर करने का प्लान किया। चूँकि हम सालों से एस्ट्रोसेज के साथ जुड़े हुए है, इसलिए हमने उनकी इस नई खोज पर अपना पुनः विश्वास दिखाया और वास्तव में हमेशा की तरह इस बार भी एस्ट्रोसेज ने हमारी समस्या का बखूबी समाधान दिया। इस रिपोर्ट में मुझे मेरे बच्चे के करियर, शिक्षा, स्वभाव, उसकी कुंडली के दोष-योग, विपरीत परिस्थितियों के लिए सही उपाय और बच्चे की जन्म कुंडली अनुसार उसके जीवन का भविष्यफल, जैसे सभी ज़रूरी बातों की जानकारी मिली। मैं तो हर व्यक्ति को इस रिपोर्ट को ऑर्डर करने की सलाह देंगे।  

-काव्या बिजलानी

एस्ट्रोसेज आपके लिए अपनी सबसे श्रेष्ठ रचना व दुनिया की पहली बच्चों के लिए विस्तर रिपोर्ट “शिशु कुंडली” प्रस्तुत करता है। 60 से भी अधिक पन्नों की यह रिपोर्ट आपके बच्चे के लिए, ज्योतिष के कई पहलुओं के आधार पर सटीक और विस्तृत भविष्यवाणी देती है। बच्चे का स्वभाव, उसका करियर, उसका शैक्षिक जीवन, संपूर्ण जीवन का भविष्यफल, आदि के विषय में बताई गयी बातें, इस ज्योतिष-रिपोर्ट को सबसे अलग व अनोखी बनाती है। गंडमूल शांति, बच्चे के जन्म का पाया, नाम / नामाक्षर, लग्न संधि, बालारिष्ट जैसे विभिन्न योग और दोष व उसके अनुसार उचित उपाय, बच्चे के जन्म की अशुभ व शुभ परिस्थितियां और उसके उपचार, कुछ विशेष तिथि में जन्में बच्चों के लक्षण और उनका फल, संक्रांति काल में जन्में बच्चों पर असर, स्वास्थ्य जीवन, सभी 16 संस्कारों के लिए शुभ मुहूर्त, बच्चे की नज़र दोष के उपाय, असामान्य प्रसव और उसका उपाय, बच्चे का वर्ष  विवरण, जैसी बहुत सी उन्नत विस्तृत जानकारी, इस रिपोर्ट में दी गई हैं, जो इसे बच्चों के लिए अब तक की सबसे बेहतरीन रिपोर्ट का दर्जा देती हैं। 

क्यों बच्चों के लिए है “शिशु कुंडली रिपोर्ट सबसे अच्छा विकल्प है?

कलरफुल, विस्तृत, सटीक और सबसे अलग!   एस्ट्रोसेज “शिशु कुंडली” रिपोर्ट कलरफुल रुप में! आपके बच्चों के कलरफुल जीवन की तरह ही, कई रंगों से सजी यह विशेष रिपोर्ट, जो पढ़ने और समझने में है बेहद सरल। 
60+ पृष्ठ- बच्चों के लिए अबतक की सबसे विस्तृत कुंडली  बच्चों के जन्म के विवरण के आधार पर एक विस्तृत, ज्योतिषीय वर्णन का आनंद लें। साथ ही बच्चे की लग्न राशि, उनके लिये अनुकूल समय, स्थान, स्वभाव, करियर को लेकर भविष्यवाणी, शिक्षा और उनके जीवन से जुड़े कई महत्वपूर्ण तथ्यों के बारे में इस रिपार्ट में जानें।
नक्षत्र से जानें बच्चे की कुंडली के दोष  बच्चों के जन्म नक्षत्रों के विश्लेषण अनुसार जानें, गंड मूल नक्षत्र दोष, उसके कारण, परिणाम और दोष के लिए उचित उपाय, आदि के बारे में भी इस रिपोर्ट में बहुत कुछ बताया गया है। क्या आप जानना चाहते हैं कि आपके बच्चे की कुंडली में नक्षत्र से कौन-कौन से दोषों का हो रहा है निर्माण? जानने के लिये अभी ऑर्डर करें!
कुंडली में दोष और उनकी शान्ति जानिये गंड मूल जैसे अन्य दोषों की शांति और उन्हें निवृत्ति करने के लिए उपाय। इसके साथ ही बच्चे की कुंडली में प्रतिकूल और अनुकूल योग, जैसे राज योग आदि के बारे में भी इस रिपोर्ट में आपको बताया गया है।
दशाफल और अनुकूल समय “शिशु कुंडली” रिपोर्ट, बच्चे के जन्म के बाद से ही चल रही अनुकूल ग्रह दशाओं, इन दशाओं के प्रभावों के बारे में भी जानकारी देती है। साथ ही यह बच्चे के भविष्य के बारे में भी सटीक जानकारी देने में भी बेहद कारगर है।  
पाया और उसका परिणाम   बच्चे के जन्म के पाया की मदद से जानें आपका बच्चा किस प्रकार के पाँव लेकर, अर्थात क्या शुभ और अशुभ फल लेकर आपके परिवार में उत्पन्न हुआ है। 
नाम व नामाक्षर सुझाव

 

जन्म कुंडली अनुसार बालक का उचित नामाक्षर सुझाव भी, इस रिपोर्ट में दिया गया है।
लग्न संधि और परिणाम  इस रिपोर्ट की मदद से आप जानेंगे अपने बालक का जन्म लग्न प्रारंभिक अथवा अंतिम अंश और उसके लिए उचित उपाय। 
लग्न, तिथि, नक्षत्र गण्डान्त और उसकी शान्ति  आपको ये भी पता चलेगा कि आपके बच्चे का जन्म लग्न, तिथि या नक्षत्र गण्डान्त में हुआ है या नहीं। साथ ही यदि हुआ हैं तो उसके शांति के लिए सभी उपचार भी। 
बालारिष्ट व भंग योग और उसका उपचार  बालक को शारीरिक कष्ट देने वाला बालारिष्ट से जुड़ी भी जानकारी आपको दी जाएगी। जिसकी मदद से आप जान सकेंगे कि कही आपके बच्चे के कुंडली में भी तो इस दोष का निर्माण हो रहा है। यदि हो रहा है तो उसका उचित उपाय।
अशुभ परिस्थितियों में जन्में बच्चे की पहचान और उसके निवारण जानिये कही आपके बालक का जन्म अशुभ समय में तो नहीं हुआ, अगर हुआ है तो घबराने की आवश्यकता बिल्कुल नहीं है क्योंकि हमारी इस रिपोर्ट में उसके लिए भी कुछ विशेष उपचार बताए गए हैं।
अमावस्या व कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को जन्में बच्चों के लिए उपाय  जिन शिशु का जन्म कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी व अमावस्या को हुआ है, उनके लिए आवश्यक उपाय इस रिपोर्ट में दिए गए हैं।
भद्रा काल अथवा अशुभ योगों में जन्म और उसके उपाय  जानिए बालक का जन्म लग्न भद्रा काल / व्यतिपात / तिथि क्षय में हुआ है या नहीं। साथ ही उसके परिणाम अनुसार, उचित उपाय।
दन्तोद्गम फल और प्रारंभिक शिक्षा  बच्चे के दाँत को देखकर जानें, उसके दन्तोद्गम फल और उसका परिणाम। साथ ही इस रिपोर्ट में आपको बच्चे की जन्म कुंडली अनुसार उसकी प्रारंभिक शिक्षा के बारे में भी विस्तार से बताया जाएगा।
बालक का स्वास्थ्य और स्वभाव “शिशु कुंडली” में आपको अपने बच्चे के स्वास्थ्य जीवन और उसके स्वभाव से जुड़ी हर समस्या का समाधान भी मिलेगा।
मुख्य शुभ मुहूर्त बालक के जन्म से लेकर, उसके जीवन काल पर्यंत तक के सभी संस्कारों के लिए शुभ मुहूर्त, उसे करने की सम्पूर्ण विधि, व उसके परिणामों को भी इस रिपोर्ट में जगह दी गई है। जिनकी गणना बच्चे की जन्म कुंडली अनुसार की गई है।
नज़र दोष के उपाय और उसके बचाव  बच्चों को हमेशा बुरी नज़रों से बचाना हर माता पिता के लिए सबसे चुनौती भरा कार्य होता है। ऐसे में माता-पिता इस समस्या के लिए इस रिपोर्ट में आपको बच्चे को नज़र दोष से बचने और उसका नकारात्मक शक्तियों से बचाव के लिए उपाय भी मिलेंगे।
असामान्य प्रसव और उसका उपाय यदि आपके बच्चे की शारीरिक बनावट या अंग सामान्य न हो तो, उसे बच्चों को असामान्य अथवा अशुभ प्रसव का परिणाम भोगना पड़ सकता है। ऐसे में आपकी इस चिंता के लिए भी, इस रिपोर्ट में उचित व कारगर उपाय दिए गए हैं। 
विस्तृत राशिफल शिशु कुंडलीरिपोर्ट की मदद से आप अपने बच्चे की जन्म कुंडली अनुसार उसका विस्तृत भविष्यफल के बारे में जान सकते हैं। यह रिपोर्ट बच्चे के जीवन के हर पक्ष को आपके सामने बेहद सरल तरीके से प्रस्तुत करती है।

पेश है एस्ट्रोसेज की “शिशु कुंडली” रिपोर्ट, आरंभिक दर केवल ₹499 इस रिपोर्ट पर कोई भी अतिरिक्त शुल्क नहीं लगाया गया है। अभी ऑर्डर करें और अपने बच्चे के भविष्य की महत्वपूर्ण जानकारियाँ प्राप्त करें।  

एस्ट्रोसेज की “शिशु कुंडली” रिपोर्ट को आप किसी दांपत्य जातक या अपने किसी क़रीबी को भी उपहार के रूप में भेट कर सकते हैं, ताकि उन्हें अपने शिशु के बारे में विस्तार पूर्वक जानने में मदद मिले।

कॉग्निएस्ट्रो आपके भविष्य की सर्वश्रेष्ठ मार्गदर्शक

आज के समय में, हर कोई अपने सफल करियर की इच्छा रखता है और प्रसिद्धि के मार्ग पर आगे बढ़ना चाहता है, लेकिन कई बार “सफलता” और “संतुष्टि” को समान रूप से संतुलित करना कठिन हो जाता है। ऐसी परिस्थिति में पेशेवर लोगों के लिये कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट मददगार के रुप में सामने आती है। कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट आपको अपने व्यक्तित्व के प्रकार के बारे में बताती है और इसके आधार पर आपको सर्वश्रेष्ठ करियर विकल्पों का विश्लेषण करती है।

 

इसी तरह, 10 वीं कक्षा के छात्रों के लिए कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट उच्च अध्ययन के लिए अधिक उपयुक्त स्ट्रीम के बारे में एक त्वरित जानकारी देती है।

 

 

जबकि 12 वीं कक्षा के छात्रों के लिए कॉग्निएस्ट्रो रिपोर्ट पर्याप्त पाठ्यक्रमों, सर्वश्रेष्ठ कॉलेजों और करियर विकल्पों के बारे में जानकारी उपलब्ध कराती है।

 

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.