आपकी लॉटरी कब लगेगी, जानें नक्षत्रों के आधार पर !

पैसे कमाने की मंशा किसके मन में नहीं होती है, इस दुनिया में शायद ही कोई ऐसा होगा जो अपनी जिंदगी को सुखमय बनाने के लिए पैसे कमाना ना चाहता हो। आज की तारीख में जिंदगी की गाड़ी चलाने के लिए पैसा एक आधारभूत कारक है जिसके बिना आप जीवन के सभी भौतिक सुखों की प्राप्ति नहीं कर सकते हैं। धन कमाने के लिए अक्सर लोग लाटरी की टिकट खरीदते हैं और यदि एक बार किसी की लॉटरी निकल जाए तो फिर क्या कहने। यूँ तो पैसा हाथों का मैल होता है, जो आज आपके पास है तो कल नहीं है। लेकिन लाटरी से जीते गए पैसे कुछ वक़्त तक आपकी जिंदगी को आसान जरूर बना सकते हैं। आज इस लेख के ज़रिये हम आपको कुछ ऐसे नक्षत्रों के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके दौरान लाटरी निकलने का दिन यदि आपके नाम के नक्षत्र से मिलता हो तो आपको लाटरी की टिकट खरीदने से सफलता मिल सकती है। इसके लिए सबसे पहले आपको अपनी नाम नाम राशि और नक्षत्र की जानकारी होनी चाहिए। इसके बाद सबसे महत्वपूर्ण बात यह जानना है कि जिस दिन लाटरी का परिणाम बताया जायेगा उस दिन कौन सा नक्षत्र पड़ेगा। फिर उस नक्षत्र को अपने नक्षत्र से मिलाकर देखिये। यदि वो नक्षत्र आपके नक्षत्र या उसके साथ वाले नक्षत्र युग्म से मिलता हो तो उस दिन की लाटरी खरीदना आपके लिए बेहतरीन साबित होगा और इससे आपको लाटरी जीतने में कामयाबी मिल सकती है। यदि  लॉटरी वाले दिन वो नक्षत्र  न मिले तो जिस दिन की लाटरी उस नक्षत्र से मेल खाती हो, उस दिन की  लाटरी का टिकट खरीदें। नीचे दिए गए नक्षत्रों के युग्म में एक ग्रह के स्वामित्व वाले ही तीनों नक्षत्र हैं। उदाहरण के तौर पर यदि आपका जन्म कृतिका नक्षत्र में हुआ है तो आप कृतिका, उत्तराफाल्गुनी और उत्तराषाढ़ा नक्षत्र का नीचे दिया हुआ फल देख सकते हैं। आईये देखें कौन से हैं वो नक्षत्र जिनमें आपकी लाटरी निकल सकती है और आप भी धनवान बन सकते हैं।

सूर्य के नक्षत्र: कृतिका, उत्तरा फाल्गुनी, उत्तराषाढ़ा  

इन नक्षत्रों में यदि लाटरी का  परिणाम आना है तो आपके द्वारा खरीदे गए टिकट के निकलने की उम्मीद काफी ज्यादा होती है। इसके अलावा आप लाटरी जीतने के लिए इस दौरान प्रतिदिन आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें, इससे भी आपको सफलता प्राप्त हो सकती है। इसके साथ ही साथ यदि इन नक्षत्रों में सूर्य यंत्र धारण किया जाए तो इससे भी लाटरी के टिकट ख़रीदकर जीतने की उम्मीद बढ़ जाती है। लाटरी जीतने के लिए आप रविवार के दिन व्रत भी रख सकते हैं और गुड़ एवं गेहूं का दान भी कर सकते हैं। विशेष रूप से इस नक्षत्र में रविवार के दिन लाटरी का टिकट खरीदने से आपकी जीत निश्चित हो जाती है।

चन्द्रमा के नक्षत्र: रोहिणी, हस्त, श्रवण

उपरोक्त नक्षत्रों में निकलने वाली लॉटरी की टिकट लेने से आपको जीत प्राप्त हो सकती है। इसके साथ ही सोमवार के दिन व्रत रखना और भगवान् शिव की पूजा करना भी आपके लिए लाभकारी साबित हो सकता है। विशेष लाभ के लिए चन्द्रमा यंत्र धारण करें और सफ़ेद रंग के कपड़े, दूध और चावल का दान करें। इसके अलावा आप विशेष लाभ के लिए चांदी की अंगूठी में सफ़ेद मोती भी धारण कर सकते हैं। इस नक्षत्र के दौरान नियमित रूप से दुर्गा सप्तशती पाठ करने से भी आप लाटरी की टिकट जीत सकते हैं। इस नक्षत्र के दौरान सोमवार के दिन ही लाटरी की टिकट खरीदें।

मंगल के नक्षत्र: मृगशिरा, चित्रा, धनिष्ठा

इस नक्षत्र के दौरान लाटरी निकलने की उम्मीद कम होती है। हालाँकि यदि आप एक साल के बाद कुछ क्रियाओं को करने के पश्चात लाटरी की टिकट खरीदते हैं तो ऐसे में आपकी लाटरी जीतने की उम्मीद बढ़ जाती है। ऐसे में आप एक साल तक यदि हर मंगलवार को व्रत रखकर हनुमान जी को लड्डू और सिन्दूर चढ़ाते हैं तो इससे आपको सफलता मिल सकती है। इसके अलावा आप विशेष लाभ के लिए मंगल यंत्र और मूंगा धारण कर सकते हैं।

राहु के नक्षत्र: आर्द्रा, स्वाति, शतभिषा

इस नक्षत्र की स्थिति में आप तीन महीने बाद निकलने वाली लाटरी की टिकट खरीद सकते हैं। इस दौरान आपको अपने इष्ट देव की पूजा अर्चना करने से विशेष लाभ मिल सकता है। इसके साथ ही साथ शनिवार के दिन यदि काली चीजों का दान करें और पक्षियों को चावल खिलाएं तो इससे भी तीन महीने के बाद आपकी लॉटरी जीतने की उम्मीद काफी बढ़ जाती है। यदि आप गोमेद धारण करते हैं तो इससे तीन माह के बाद आपको निश्चित रूप से लाटरी में जीत हासिल होगी। शनिवार के दिन लक्ष्मी स्तोत्र का पाठ करने से आपको लाभ मिल सकता है। इसके अलावा शनिवार के दिन शनि यंत्र धारण करने और इसी दिन लाटरी की टिकट खरीदने से लाभ मिल सकता है।

बृहस्पति के नक्षत्र: पुनवर्सु, विशाखा, पूर्वाभाद्रपद

इन नक्षत्रों में लाटरी निकलने का विशेष योग बनता है। इसके साथ ही विशेष लाभ प्राप्ति के लिए यदि आप किसी गरीब ब्राह्मण को मीठे चावल, पीला कपड़ा और चने की दाल दान करते हैं तो इससे भी लाटरी जीतने की संभावना काफी बढ़ जाती है। इसके अलावा यदि आप करीबन पांच गुरुवार का व्रत रखते हैं तो इससे भी आपको विशेष लाभ मिल सकता है। यदि कोई व्यक्ति करीबन चालीस दिनों तक दुर्गा सप्तशती पाठ करे तो इससे भी उसे लाभ मिल सकता है। गुरु यंत्र को अपने पास रखें और पुखराज धारण करें, साथ ही यदि लॉटरी टिकट गुरुवार के दिन ही खरीदा जाए तो सफलता मिल सकती है।

शनि के नक्षत्र: पुष्य, अनुराधा, उत्तराभाद्रपद

आपकी लाटरी निकलने में कुछ देरी हो सकती है। विशेष लाभ के लिए शनिवार के दिन खासतौर से व्रत रखें और गरीब ब्राह्मण को काले कपड़े, काले तिल और लोहे का बर्तन दान करें। इस दौरान यदि आप शनि यंत्र और नीलम धारण करते हैं तो इससे लाटरी निकलने की संभावना बढ़ जाती है। इसके आलावा आप गाय को चारा खिलाएं और प्रयास करें कि लाटरी की टिकट शनिवार के दिन ही खरीदी जाए।

बुध के नक्षत्र: अश्लेषा, ज्येष्ठा, रेवती

आपके लाटरी की टिकट निकलने की पूरी संभावना है लेकिन विशेष सफलता के लिए लाटरी की टिकट बुधवार के दिन ही खरीदें। साथ ही पांच बुधवार का व्रत रखें और इस दिन कांसे के बर्तन, हरे फल, घी और मिश्री आदि का दान करें। इसके अलावा यदि आप करीबन एक महीने तक दुर्गा सप्तशती पाठ करते हैं तो इससे भी आपको अपार सफलता मिल सकती है। विशेष लाभ के लिए बुध यंत्र अपने पास जरूर रखें।

केतु के नक्षत्र: अश्विनी, मघा, मूल

आप लाटरी की टिकट विशेष रूप से मंगलवार के दिन किसी बालक के नाम से खरीदते हैं तो आपकी जीत निश्चित हो सकती है। इस दौरान आपके लिए लाटरी खरीदना नुकसानदेह हो सकता है, आपकी जीत की संभावना करीबन सात महीनों के बाद बन रही है। इस दौरान आप अपने इष्ट देव की पूजा अर्चना कर, व्रत रखकर और बच्चों में लड्डू बांटकर लाभ प्राप्त कर सकते हैं। साथ ही यदि आप रोजाना लक्ष्मी जी का पाठ करें तो इससे भी जीत की उम्मीद बढ़ जाती है।

शुक्र के नक्षत्र: भरणी, पूर्वाफाल्गुनी, पूर्वाषाढ़ा

आपके लाटरी जीतने की आशा जल्द पूरी हो सकती है। इस दौरान यदि आप दुर्गा सप्तशती के छठे अध्याय का करीबन एक महीने तक पाठ करें तो आपको सफलता जल्द मिल सकती है। प्रयास करें कि इस पाठ को शुक्रवार के दिन खासतौर से करें। इसके साथ ही साथ इस दिन पांच कन्याओं को चावल की खीर खिलाएं और हीरा एवं शुक्र यंत्र को धारण करें। यदि लाटरी की टिकट शुक्रवार के दिन ही खरीदी जाए तो इससे आपको सफलता मिल सकती है।

किस राशि के जातकों के लिए किस राज्य का टिकट खरीदना हो सकता है लाभकारी

  • मेष राशि : मेष राशि के जातकों के लिए उड़ीसा, पंजाब और कलकत्ता प्रांत की टिकट खरीदना फलदायी साबित हो सकता है।
  • वृषभ राशि: इस राशि के जातकों के लिए विशेष रूप से बिहार, उत्तरप्रदेश और राजस्थान का टिकट खरीदना लाभकारी साबित हो सकता है।
  • मिथुन राशि : इस राशि के जातकों के लिए नागालैंड, हिमाचल प्रदेश, सिक्किम और असम राज्य का टिकट खरीदना लाभकारी साबित हो सकता है।
  • कर्क राशि : कर्क राशि वालों को खासतौर से रंगून, दिल्ली और श्रीलंका के लाटरी टिकट खरीदने चाहिए।
  • सिंह राशि: इस राशि के लोगों के लिए असम, केरल और महाराष्ट्र के टिकट खरीदना फलदायी साबित होगा।
  • कन्या राशि : कन्या राशि के जातकों के लिए श्रीनगर, सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, असम और नागालैंड के लाटरी के टिकट खरीदना लाभकारी साबित हो सकता है।
  • तुला राशि : इस राशि के जातकों के लिए विशेष रूप से राजस्थान, पंजाब और हरियाणा के टिकट खरीदना फलदायी रहेगा।
  • वृश्चिक राशि : आपके लिए बिहार, उत्तरप्रदेश, उड़ीसा, बंगाल, सिक्किम के टिकट खरीदना अच्छा होगा।
  • धनु राशि : इस राशि के जातकों को दिल्ली, उत्तरप्रदेश, नेपाल और बंगाल के लाटरी टिकट खरीदने चाहिए।
  • मकर राशि : आपको विशेष रूप से श्रीलंका, हिमाचल प्रदेश और मैसूर के टिकट खरीदने चाहिए।
  • कुंभ राशि: इस राशि के जातकों के लिए पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और बिहार का टिकट खरीदना फायदेमंद हो सकता है।
  • मीन राशि : आपके लिए खासतौर से जम्मू कश्मीर, महाराष्ट्र और नागालैंड के लाटरी टिकट खरीदना फायदेमंद साबित होगा।

हम आशा करते हैं हमारा ये लेख आपके लिए लाभकारी साबित होगा। हम आपके बेहतर भविष्य की कामना करते हैं !

Spread the love
पाएँ ज्योतिष पर ताज़ा जानकारियाँ और नए लेख
हम वैदिक ज्योतिष, धर्म-अध्यात्म, वास्तु, फेंगशुई, रेकी, लाल किताब, हस्तरेखा शास्त्र, कृष्णमूर्ती पद्धति तथा बहुत-से अन्य विषयों पर यहाँ तथ्यपरक लेख प्रकाशित करते हैं। इन ज्ञानवर्धक और विचारोत्तेजक लेखों के माध्यम से आप अपने जीवन को और बेहतर बना सकते हैं। एस्ट्रोसेज पत्रिका को सब्स्क्राइब करने के लिए नीचे अपना ई-मेल पता भरें-

Leave a Reply

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा.